scriptThree years after the announcement of medical college, work still stuc | मेडिकल कॉलेज की घोषणा के हुए तीन साल, अब भी अटका काम | Patrika News

मेडिकल कॉलेज की घोषणा के हुए तीन साल, अब भी अटका काम

कांग्रेस ने भाजपा व सरकार पर कसा तंज

सिवनी

Published: December 02, 2021 07:24:00 pm

सिवनी. मेडिकल कालेज के निर्माण में लगातार हो रही देरी पर जिला कांग्रेस ने भाजपा और प्रदेश सरकार की नीति और घोषणाओं पर तीखे तंज कसे हैं। जिला कांग्रेस प्रभारी महामंत्री ब्रजेशसिंह बघेल ने कहा कि भूमि पूजन के 3 वर्ष पूर्ण हो चुके है किन्तु अभी तक निर्माण कार्य प्रारंभ होने की कोई स्थिति दिखाई नहीं दे रही है।
कहा कि 300 सौ करोड़ निर्माण लागत का पत्थर लगाकर 220 करोड का टेंडर लगाया गया है, जबकि 80 करोड की राशि कम कर दी गई। कहा कि राशि में कमी के पीछे क्या कारण है, निर्माण क्षेत्र को कम कर दिया गया है या चिकित्सा जांच उपकरणों को कम कर दिया गया है। बघेल ने कहा कि भूमि पूजन होने से लेकर टेंडर लगने, टेंडर स्वीकृत होने पर भाजपा नेता और जनप्रतिनिधि बधाईयों के बडे-बडे फलेक्स लगाकर प्रदर्शन करते रहे जब टेंडर स्वीकृत हो गया तो कार्य आदेश देने में क्यों विलम्ब किया जा रहा है।
जिला कांग्रेस प्रभारी महामंत्री ने कहा कि कुछ दिन पूर्व मंत्री परिषद की बैठक में 1547 करोड रूपय से 6 नवीन मेडिकल के निर्माण की मंजूरी दी गई, पिछली घोषणा के अनुसार मंडला, छतरपुर, दमोह, सिवनी इन जिलो में अभी तक घोषणा के बाद अभी तक कोई निर्माण कार्य प्रारंभ नही हुआ। कहा कि भाजपा के नेता चुनाव होते ही ये सब घोषणाएॅ भूल जाते हैं।
बघेल ने आगे कहा कि पिछले दिनों सिवनी के लोगो ने कोरोना बीमारी के चलते जन और धन दोनों से हाथ धोया है। नागपुर, जबलपुर, गोंदिया, छिन्दवाडा इलाज के लिये जाना पडता है, जिसके पास थोडी बहुत जमा पूंजी है वह बाहर जाकर इलाज करा लेता है मरन गरीब की होती है जो ईलाज के अभाव में असमय दम तोडु देते हंै। पिछली महामारी से सरकार और सत्ताधारी दल के जनप्रतिनिधयों ने कोई सबक नही लिया। इंदिरा गांधी जिला चिकित्सालय में जिले भर से लोग इलाज कराने आते है न तो डाक्टरो की उपलब्धता सुनिश्चित करा पाये और न ही जांच उपकरणों की, भाजपा नेताओं को यह प्रयास करना चाहिए कि सिवनी मेडिकल कालेज का निर्माण कार्य जल्द से जल्द प्रारंभ हो।
मेडिकल कॉलेज की घोषणा के हुए तीन साल, अब भी अटका काम
मेडिकल कॉलेज की घोषणा के हुए तीन साल, अब भी अटका काम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.