सिवनी में जलावद्र्धन का हॉल, जहां जी चाहा रोक दिया सड़क और रख दिया पाइप

अपूर्ण प्रयोगशाला से जलावद्र्धन योजना का हो रहा काम, नगर पालिका के इंजीनियरों की कार्यशैली सवालों के घेरे में, सीएमओ ने चलाया चाबुक

By: akhilesh thakur

Published: 10 Feb 2018, 02:03 PM IST

सिवनी. नगर पालिका क्षेत्र में यूआईडीएसएसएमटी योजना के तहत चल रहे जलावद्र्धन योजना का कार्य टेंडर की शर्तों का उल्लंघन कर किया जा रहा है। सीएमओ नवनीत पांडेय की जांच में यह मामला सामने आया है। निर्माणदायी कम्पनी शहर में जहां चाह रही है, वहां बिना यातायात कार्यालय के परमिशन लिए सड़क बंद कर काम कर रही है। पाइप कही भी रख रही है। निर्धारित समय में काम पूर्ण नहीं किया है। अब समय बढ़ाने की मांग कर रही है।
निर्माणदायी कम्पनी कार्यों के संबंध में सारी जानकारी नपा कार्यालय को उपलब्ध नहीं करा रही है। मिट्टी की टेस्टिंग रिपोर्ट कार्यालय में प्रस्तुत नहीं की गई है। मुरम एवं पाइप की सुरक्षा का स्वयं के अनुसार मनमाने तरीके से निर्णय ले रही है। खुदाई के बाद सड़क को बिना रिस्टोर किए छोड़ा जा रहा है। मजदूरों के लिए कार्य करने वाले स्थल पर उनको सुरक्षा उपकरण नहीं दिए जा रहे हैं। प्रयोगशाला अपूर्ण है। कम्पनी ने पहले दिसम्बर २०१७ तक का समय बढ़वाया है। अब मार्च २०१८ तक का समय बढ़ाने के लिए पीआईसी के समक्ष मांग की है। लेकिन कार्यों की गति को देखकर अनुमान लगाया जा रहा है कि उक्त बढ़ाए गए समय में भी कार्य पूर्ण नहीं हो पाएगा। इससे भविष्य में शहर को गंभीर संकट से गुजरना पड़ेगा। इस कार्य में नगर पालिका के इंजीनियरों की कार्यशैली पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

 

कम्पनी ने पहले दिसम्बर २०१७ तक का समय बढ़वाया है। अब मार्च २०१८ तक का समय बढ़ाने के लिए पीआईसी के समक्ष मांग की है। लेकिन कार्यों की गति को देखकर अनुमान लगाया जा रहा है कि उक्त बढ़ाए गए समय में भी कार्य पूर्ण नहीं हो पाएगा। इससे भविष्य में शहर को गंभीर संकट से गुजरना पड़ेगा। इस कार्य में नगर पालिका के इंजीनियरों की कार्यशैली पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

सात दिवस में मांगा है जवाब
निरीक्षण में बड़े पैमाने पर कमियां मिली है। निर्माणदायी कम्पनी को नोटिस जारी किया गया है। सात दिवस में जवाब मांगा गया है। इसके बाद उसके खिलाफ कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी।
- नवनीत पांडेय, मुख्य नगर पालिका अधिकारी सिवनी

akhilesh thakur Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned