संतुलित मात्रा में करें खाद-बीज का उपयोग

फसलों में संतुलित खाद एवं उर्वरकों के उपयोग पर जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन

सिवनी. भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली के निर्देशानुसार फसलों में संतुलित खाद एवं उर्वरकों के उपयोग पर जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन कृषि विज्ञान केंद्र, सिवनी के दर्पण सभागार में सम्पन्न हुआ।
कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर वेबकास्ट के माध्यम से खाद का सहीं उपयोग पर जागरुकता कार्यक्रम का सीधा प्रसारण कृषि विज्ञान केंद्र, सिवनी में किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ओम ठाकुर प्रमण्डल सदस्य जनेकृविवि. जबलपुर के द्वारा अपने उद्बोधन में उपस्थित कृषकों एवं संबंधित विभागों से उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारीयों को फसलों में समुचित उपयोग कर फसल उत्पादकता में वृद्धि करने पर जोर दिया।
कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि मोरिस नाथ, अनुविभागीय कृषि अधिकारी द्वारा सभी किसान भाइयों एवं बहनों को खाद एवं बीज का संतुलित मात्रा में उपयोग करने एवं अपनी लागत को कम करने के लिए बताया।
इस अवसर पर कार्यक्रम का वेबकास्ट के द्वारा शुभारंभ दिल्ली से किया गया। कृषि मंत्री भारत सरकार नरेन्द्र सिंह तोमर द्वारा खाद के प्रयोग संबंधी जागरुकता तथा मृदा स्वास्थय पत्रक पर जिसको कृषकों एवं धरती माता के लिए अति उपयोगी बताया गया, उर्वरकों के संतुलित प्रयोग तथा आने वाली पीढिय़ों के लिए स्वस्थ मृदा तथा जल संजोने का जिम्मा लेने के लिए कहा, भारत वर्ष में उत्पादन अथाह है। लेकिन उर्वरकों के अंधाधुंध उपयोग से मृदा उसर हो रही है। जिसका खामियाजा पंजाब, हरियाणा भुगत रहा है। उन्होंने व्यक्त किया की जब में पंजाब या हरियाणा के किसी घर में भोजन करता हूं तो लोग कहते है, मंत्री एक रोटी और खाइ, आपके मप्र के गेहूं की रोटी है। इस मिशाल को समूचे भारत वर्ष में कायम करना और भविष्य को सुनहरा बनाकर अपनी आय को दोगुनी करने की सलाह दी।
कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केंद्र, के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. एनके सिंह द्वारा रबी की तैयारी मृदा परीक्षण विषय पर प्रकाश डाला गया।
कार्यक्रम के नोडल ऑफिसर जीके राणा एवं कार्यक्रम सहायक डॉ. पीके सैनी द्वारा कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए बताए गए सुझावों को अंगीकार करने की बात कही।
कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केंद्र, सिवनी के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. एनके सिंह, एपी भंडारकर, (वरिष्ठ कीट वैज्ञानिक), इंजी एसके चौरसिया, डॉ. किरन पाल सिंह सैनी, (कार्यक्रम सहायक, पशुपालन), जीके राणा (कार्यक्रम सहायक, खाद विज्ञान), रूकमणी सनोडिया, हुकुमचंद सनोडिया एवं नीत लाहौरी, जयशंकर गौतम, पवन गढेवाल, हिमांषु कुमारे की उपस्थिति रही।

Show More
santosh dubey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned