scriptVegetable crop planted in the field, the influential got the registrat | खेत में लगी सब्जी की फसल, रसूखदार ने करा लिया धान का पंजीयन | Patrika News

खेत में लगी सब्जी की फसल, रसूखदार ने करा लिया धान का पंजीयन

खेती करने वाले किसानों को पता ही नहीं कब खेत के कागज पर चढ़ गया रसूखदार का नाम

सिवनी

Published: December 31, 2021 09:36:43 am

सिवनी/किंदरई. घंसौर विकासखंड के ग्राम जामुनपानी (केदारपुर) में पटवारी ने जिस खेत में सब्जी की फसल लगाई गई है। उसमें धान दर्शा दिया है। उस जमीन पर तीन पीढ़ी से काबिज किसानों की जगह किसी और का नाम भी चढ़े होने का मामला सामने आया है। इसकी जानकारी के बाद किसानों ने कलेक्टर एवं राजस्व अधिकारियों को पत्र लिखककर शिकायत किया है। कहा है कि ग्राम जामुनपानी पटवारी हल्का नंबर 67 ने खसरा नंबर 55 रकबा 0.100 हेक्टेयर, खसरा नंबर 65 रकबा 4.920 हेक्टेयर, खसरा नम्बर 70 रकबा 2.900 हेक्टेयर एवं खसरा नंबर 71 रकबा 1.720 हेक्टेयर की भूमि पर करीब तीन पीढ़ी से हमलोग काबिज है।
लंबे समय से इस पर खेती कर गुजर-बशर कर रहे हैं। कुछ किसानों के पूर्वज की मौत के बाद उनके परिजन खेती कर रहे हैं। किसानों का कहना है कि एक रसूखदार ने उक्त खेत पर अपना नाम चढ़वा लिया है। उसने अपनी पहुंच के बल पर बिना फसल लगाए पंजीयन करा लिया है। किसानों ने खेत में लगाए गए फसल का पंचनामा और सीडी बनाकर शिकायत के साथ संबंधित अधिकारियों को सौंपा है।
किसानों ने कलेक्टर के अलावा एसडीएम व तहसीलदार से भी इसकी शिकायत की है। शिकायती पत्र में किसानों ने कहा है कि संबंधित रसूखदार का नाम कब और कैसे खेत के कागज पर दर्ज हुआ इसकी जानकारी नहीं है। ऑनलाइन जांच करने पर उन्हें खेत किसी और के नाम पर होने की जानकारी हुई। रसूखदार विगत कई वर्षों से उक्त जमीन पर फर्जी पंजीयन कराकर शासन की योजनाओं का लाभ ले रहा है। वर्ष 2021-22 खरीफ सीजन में किसानों द्वारा उक्त खसरा नंबर 55, 65 एवं 71 की जमीन पर मक्का, अरहर, बैगन, बरबटी, टमाटर एवं आलू आदि की सब्जी लगाई है। रसूखदार ने गलत जानकारी दर्ज कराकर 223 क्विंटल धान का पंजीयन कर लिया है। किसानों ने इसकी जांच कराए जाने की मांग की है।
शिकायतकर्ता किसानों ने संबंधित अधिकारियों से उक्त मामले की जांच स्थानीय पंच, सरपंच, व ग्रामवासी की उपस्थिति में कराए जाने की मांग की है। उनका कहना है कि यदि ऐसा नहीं हुआ तो रसूखदार अपने प्रभाव से जांच प्रभावित करा सकता है। शिकायतकर्ताओं ने फर्जी तरीके से धान की फसल का पंजीयन कराए जाने की जानकारी संबंधित धान उपार्जन केन्द्र बुधेरा के प्रबंधक को भी दे दिया है। संबंधित अधिकारियों ने इस शिकायत को गंभीरता से लेते हुए जांच कराए जाने का आश्वासन दिया है।
खेत में लगी सब्जी की फसल, रसूखदार ने करा लिया धान का पंजीयन
खेत में लगी सब्जी की फसल, रसूखदार ने करा लिया धान का पंजीयन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

संसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितRepublic Day 2022 parade guidelines: बिना टीकाकरण और 15 साल से छोटे बच्चों को परेड में नहीं मिलेगी इजाजतकोरोना ने टीका कंपनियों को लगाई मुनाफे की बूस्टरदेश में कोरोना के बीते 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा नए मामले, जानिए कुल एक्टिव मरीजों की संख्यासुप्रीम कोर्ट में 6000 NGO के FCRA लाइसेंस रद्द करने के खिलाफ याचिका पर सुनवाई आजसेल्स एंड टाइल्स व्यापारी के घर GST का छापा, सुबह-सुबह पहुंची टीम, घर, गोदाम और दुकान में खंगाले दस्तावेजमुठभेड़ में ढेर हुआ ईनामी नक्सली कमांडरगणतंत्र दिवस के पहले अयोध्या में रेलवे दुर्घटना बड़ी साजिश, जाने पूरा मामला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.