विवेकानंद, लक्ष्मीबाई, शिवाजी बने विद्यार्थी

Sunil Vandewar

Updated: 13 Jan 2019, 11:58:30 AM (IST)

Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

सिवनी. युवा दिवस के अवसर पर नगर में शनिवार को पथ संचलन में छात्र-छात्राओं द्वारा स्वामी विवेकानंद, झांसी की रानी लक्ष्मीबाई, शिवाजी, महात्मा गांधी व अन्य महापुरुषों के वेश धरे गए थे, जो विशेष आकर्षण का केन्द्र रहे।
सरस्वती विद्यालय भैरोगंज से छात्र-छात्राओं का एक पथ संचलन निकला। पथ संचलन में कक्षा 6वीं से 12वीं तक के छात्र-छात्राओं भाग लिया। घोष दल के साथ निकलने वाले पथ संचलन में विभिन्न महापुरूषों, महावीरों, वीरागंनाओं, स्वामी विवेकानंद, भारत माता आदि की झांकियां घोड़े एवं रथ पर आरूढ थी। योग प्राणायाम आदि के पश्चात संचलन के रूप में निकले। संचलन का मार्ग सरस्वती विद्यालय, एमएलबी के सामने से, पोस्ट आफिस, गांधी भवन, गणेश चौक, बड़े जैन मंदिर, शुक्रवारी, नेहरू रोड, नगरपालिका, बस स्टेैंड, होते हुए पोस्ट आफिस और वहां से वापस भैरोगंज पहुंचा। जहां संचलन का समापन हुआ। पथ संचलन मार्ग में नगरवासियों ने जगह-जगह पुष्प वर्षा कर अभिनंदन किया।
विद्यालय में हुए कार्यक्रम में सरस्वती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भैरोगंज सिवनी के प्राचार्य विजय साहू ने विवेकानंद जंयती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित नागरिकों, विद्यार्थियों से कहा कि हम किसी भी महापुरूष का जन्मदिन उसके महान कार्यो को ध्यान में रखते हुए मनाते हैं, उनसे शिक्षा लेते हैं सद्कार्यो का अनुसरण करते हैं। स्वामी विवेकानंद ऐसे ही महापुरूष हैं, जिन्होने अपनी अल्प आयु में वह सब किया जिसे करने में 100 वर्ष की आयु भी कम पड़ती है।
प्राचार्य ने कहा कि कोई भी व्यक्ति जन्म से महापुरूष नहीं होता जीवन में उत्तम तथा सर्वोत्तम कार्य करने से ही महान बनता है। आपने एक दृष्टांत के माध्यम से कहा कि स्वामी विवेकानंद बचपन से ही साहसी, स्वष्टवादी, निर्भीक तथा ईश्वर के प्रति अनन्य प्रेम रखते थे आगे चलकर उन्होने शास्त्रों का गहन अध्ययन किया और विश्व समुदाय के सामने धर्मसभा में शिकागों में अपने विचार रखे जहा पूरी दुनिया उनके विचारो से अभिभूत हो गई आज भी इतने वर्षो के बाद उन्हे उसी रूप में याद किया जाता है। स्वामी विवेकानंद ने धर्म, दर्शन, अध्यात्म एवं हिन्दुत्व को पूरी दुनिया के सामने स्पष्ट रूप से रेखांकित किया जिसका संपूर्ण विश्व ऋणी है। वास्तव में तब पूरी दुनिया ने जाना कि जीवन की सारगर्भित जीवनशैली हिन्दुत्व है जिसके बिना खुशहाल विश्व की कल्पना नहीं की जा सकती। इस अवसर पर क्षेत्रीय अधिकारी अरूण पटेवार एवं विवेकानंद बालकल्याण समिति के अध्यक्ष नूपेश ठाकुर, व्यवस्थापक सुभाष नंदनवार, कोषाध्यक्ष कृष्णा साहू, प्राचार्य विजय साहू तथा अन्य नागरिकों के साथ ही आचार्य परिवार की उपस्थिति रही।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned