प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना का लाभ लेकर आर्थिक स्थिति मजबूत किया महिला कृषक ने

मत्स्य संपदा योजना अपनाकर लक्ष्मी बाई बनी सफल मत्स्य पालक

By: akhilesh thakur

Updated: 14 Oct 2021, 08:37 AM IST

सिवनी. प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना का लाभ लेकर लक्ष्मी बाई इनवाती आर्थिक स्थिति मजबूत कर रही है। इस योजना से उनके जीवन में बहार आ गई है। वे अब प्रतिवर्ष मछली बेचकर लाखों रुपए की कमाई कर रही है।
प्रदेश सरकार कृषक, आमजन एवं ग्रामीणों के जीवनस्तर को बेहतर बनाने की दिशा में विभिन्न योजनाएं संचालित कर जमीनीस्तर पर उसे क्रियांवित कर रही है ताकि आमजन इन योजनाओं का लाभ लेकर समाज की मुख्य धारा से जुड़ सकें। शासन की ऐसे ही योजना से जिले के विकासखण्ड बरघाट के ग्राम पांढरवानी की महिला कृषक लक्ष्मी बाई इनवाती लाभांवित हुई हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना का लाभ लेकर कृषि कार्य के साथ मत्स्य पालन कार्य को अपनाया है। वे बताती हैं कि उन्होंने इस योजना अंतर्गत अपनी स्वयं की 2.00 हेक्ट. भूमि में तालाब निर्माण कराया, जिसकी लागत करीब 14.00 लाख रुपए आई है। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना अंतर्गत इन्हें आठ लाख 40 हजार रुपए की अनुदान राशि प्राप्त हुई है। इनवाती बताती हैं कि उन्होंने अपने तालाब में रोहू, कतला, मृगल, कामनकार्प एवं सिल्वर कार्प मछली बीज का संचयन किया है। वर्ष 2020 में इन्हें छह टन मत्स्य उत्पादन प्राप्त हुआ था, जिस पर शुद्ध आमदनी चार लाख रुपए प्राप्त होना बताया है। इस वर्ष अन्य मछलियों के साथ पंगेशियस मछली का भी पालन किया है, जिससे उन्हें अच्छी आय प्राप्त होने की संभावना है।


32 हजार कम हेक्टेयर में हुई मक्का की खेती मुनाफा का बन रहा आसार
सिवनी. इस बार मक्का की खेती करने वाले किसानों के लिए अच्छे संकेत मिल रहे हैं। उनको अच्छा मुनाफा होगा। खेती अच्छी हुई है और पिछले वर्ष के मुकाबले ३२ हजार कम हेक्टेयर में लगाया गया है। आकड़ों पर गौर करें तो 2019-20 में 237200 हेक्टेयर में मक्का की खेती हुई थी। इस बार 2021-21 में 205800 में मक्का की खेती हुई है। इससे पिछले वर्ष अधिकतम १२०० रुपए क्विंटन के सॉपेक्ष इस बार १८०० रुपए प्रति क्विंटल की बिक्री के आसार है। मक्का खेत में तैयार हो चुका है। किसान इसकी तोड़ाई में लगे हैं। बालाघाट जिले के भी मजदूर मक्का तोडऩे सिवनी आए हैं।

akhilesh thakur Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned