18 साल में बढ़ी 3.58 लाख पापुलेशन, कारोबार 10 हजार करोड़ के पार, पांच गुना बढ़े वाहन लेकिन सुविधाओं में अभी भी है पीछे

18 साल में बढ़ी 3.58 लाख पापुलेशन, कारोबार 10 हजार करोड़ के पार, पांच गुना बढ़े वाहन लेकिन सुविधाओं में अभी भी है पीछे
3.58 lac populations growth in shahdol

Shubham Singh | Updated: 11 Jul 2019, 12:34:59 PM (IST) Shahdol, Shahdol, Madhya Pradesh, India

लगातार बढ़ती जनसंख्या के बीच बढ़े वाहन, प्रदूषण के स्तर में भी इजाफा, कई सुविधाओं की दरकार


शहडोल. जिले की जनसंख्या में हर साल इजाफा हो रहा है। पिछले 18 साल में 3.58 लाख पापुलेशन शहडोल में बढ़ी है। बढ़ती जनसंख्या के चलते वाहनों में भी इजाफा हुआ है। बढ़ते वाहनों से प्रदूषण का स्तर भी शहडोल में हर दिन बढ़ते ही जा रहा है। इन 18 सालों में कारोबार में भी जमकर उछाल आया है लेकिन 10 हजार करोड़ हर साल रिटेल के कारोबार को पार करने वाला शहडोल अभी भी कई सुविधाओं में पीछे है। बढ़ती जनसंख्या के बीच ये सुविधाएं शहडोल के लिए बेहद महत्वपूर्ण बनती जा रही हैं। स्थानीय उद्योगों के साथ एयर सुविधाओं की लंबे समय से शहडोल में दरकार है।
कई सुविधाओं पर फोकस न होने की वजह से शहडोल के विकास को भी उड़ान नहीं मिल पा रही है। नई जनगणना के लिए अधिकारियों ने सर्वे शुरू करा दिया है। अधिकारियों की मानें तो नई जनगणना में भी लगभग दो लाख लोग और जुडऩे का अनुमान है। शहडोल की जनसंख्या अब 12 लाख पार हो जाएगी। 18 साल के आंकड़ों पर नजर डालें तो 70 प्रतिशत से ज्यादा जनसंख्या ग्रामीण अंचलों में ही बढ़ी है।

रोजगार, उद्योग, एयर सुविधाएं और टे्रन बड़ा मुद्दा
शहडोल में रिलायंस, ओपीएम और मोजर बेयर बड़े उद्योग हैं। इसके अलावा आधा दर्जन कोल माइंस भी हैं। उद्योगों की संख्या न होने की वजह से बढ़ती जनसंख्या के बीच सबसे बड़ी समस्या रोजगार की उभरकर सामने आ रही है। हर साल ग्रामीण अंचलों से 40 फीसदी से ज्यादा युवा और महिलाएं रोजगार के लिए अन्य प्रांत चली जाती हैं। एयर सुविधाएं न होने की वजह से बड़े उद्योग स्थापित नहीं हो पा रहे हैं। उद्योग न लगने से युवाओं के बीच रोजगार का संकट है। उधर मेडिकल सुविधाओं के लिए 70 फीसदी लोग बड़ी बीमारियों में नागपुर जाते हैं लेकिन नागपुर तक शहडोल से सीधी ट्रेन न होने की वजह से लोगों को दिक्कतें होती हैं।

जनसंख्या बढ़ी तो पांच गुना बढ़े वाहन, प्रदूषण भी बढ़ा
परिवहन विभाग की मानें तो पिछले 18 साल के भीतर वाहनों की संख्या में पांच गुना इजाफा हुआ है। इससे प्रदूषण का स्तर भी बढ़ा है। हर साल 30 हजार से ज्यादा सिर्फ बाइकों की बिक्री शहडोल में हो रही है। तीन हजार कार हर साल लोग खरीद रहे हैं। बढ़ती जनसंख्या का असर प्रदूषण में भी देखने को मिल रहा है।
जनसंख्या बढऩे के साथ वाहनों में इजाफा से शहडोल की फिजा भी प्रदूषित हो रही है।

इस तरह 18 साल में शहडोल की बढ़ी जनसंख्या
आंकड़ों पर नजर डालें तो 2001 में जनसंख्या 9.08 लाख थी। 2011 में यह बढ़कर 10.66 लाख पहुंच गई थी। नई जनसंख्या गणना के लिए सर्वे किया जा रहा है। अधिकारियों की मानें तो 2011 की तुलना में लगभग दो लाख जनसंख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। जबकि 2001 से 2011 की बीच यह बढ़ोत्तरी 1.58 लाख थी।

फैक्ट फाइल
2001 में जनसंख्या -9.08 लाख
2011 में जनसंख्या -10.66 लाख
वर्तमान जनसंख्या -12.50 लाख
शहडोल में रिटेल कारोबार -10 हजार करोड़
18 साल में वाहन बढ़ोत्तरी -पांच गुना
शहडोल में रहवासी कॉलोनियां -20 कॉलोनियां
हर साल बाइक बिक्री -30 हजार
हर साल कार बिक्री -3 हजार

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned