एक साल बाद दिखा बाणसागर डेम के 18 गेट से पानी निकासी का नजारा

एक साल बाद दिखा बाणसागर डेम के 18 गेट से पानी निकासी का नजारा

Shiv Mangal Singh | Publish: Sep, 10 2018 08:33:09 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

जल स्तर बढऩे से खुल गए सारे गेट, दोपहर बाद बंद हुए चार गेट

शहडोल/बाणसागर. जिले में पिछले दो दिनों तक हुई लगातार बारिश से जिले के प्रमुख बाणसागर डेम में खतरे के निशान से उपर जल भराव की स्थिति में शनिवार को सुबह पूरे 18 गेट खोल दिए गए और करीब दस हजार क्यूवेक्स पानी छोड़ा गया। यह नजारा एक साल बाद देखने को मिला। बताया गया है कि भोर में ही डेम का जल स्तर 341.64 तक पहुंच गया और जल स्तर बढऩे की संभावना के मद्देनजर शनिवार को सुबह3.15 बजे डेम के दस गेट 2.50 मीटर तक खोल दिए गए। इसके बाद भी बांध का जल स्तर बढ़ता ही जा रहा था, तो सुबह 5.40 बजे डेम के आठ और गेट भी 1.75 मीटर तक खोल दिए गए। बताया गया है कि गेट खोलने के पूर्व ही प्रशासन द्वारा सुरक्षा के सारे उपाय कर लिए गए थे। साथ ही आसपास के लोगों को अलर्ट कर डेम के आसपास व नदी के जल भराव के किनारों के पहले ही लोगों का आवागमन रोक दिया गया। विभागीय जानकारी के अनुसार बाण सागर डेम में जब 341.64 मीटर पानी का भराव होता है तब बांध के गेट खोलने की नौबत आती है। बांध में जल स्तर बढऩे की मुख्य वजह इन दिनों अंचल में झमाझम बारिश होना और बिहार को बिजली उत्पादन के लिए दिए जाने वाले पानी की सप्लाई व अन्य सभी सप्लाई को बंद किया जाना बताया गया है। गौरतलब है कि शुक्रवार को सुबह छह बजे 340.43 मीटर रहा, जो उस दिन शाम सात बजे तक340.84 मीटर हो गया था और फिर सुबह तक बांध में जल का भराव खतरे के निशान तक पहुंच गया।

आठ साल में सत्रह बार खुला गेट
सन् कब खुला गेट
2011 8 सितम्बर से 20 सितम्बर तक
21 सितम्बर को छह घंटे तक
2012 11 सितम्बर से 15 सितम्बर तक
16 सितम्बर से 18 सितम्बर तक
21 सितम्बर से 22सितम्बर तक
2013 22अगस्त से 25अगस्त तक
30 अगस्त से 4 सितम्बर तक
10 अक्टूबर से 11 अक्टूबर तक
2014-2015 नहीं खुला
2016 17अगस्त से 21 अगस्त तक
23 अगस्त से 25 अगस्त तक
27 अगस्त से 30 अगस्त तक
4 सितम्बर से 5 सितम्बर तक
22 सितम्बर से 23 सितम्बर तक
25 सितम्बर से 1 अक्टूबर तक
1अक्टूबर से 5 अक्टूबर तक
8अक्टूबर से 10अक्टूबर तक
2017 नही खुला
2018 8 सितम्बर को सुबह 3.15 बजे से

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned