उगते सूर्य को जल में खड़े होकर दिया अर्घ्य

चार दिवसीय छठ महापर्व उत्साह के साथ संपन्न

By: amaresh singh

Published: 21 Nov 2020, 09:59 PM IST

शहडोल। छठ महापर्व के चौथे दिन व्रती महिलाओं ने जल में खड़े होकर उगते सूर्य को अर्घ्य दिया। चौथे दिन अलसुबह महिलाएं छठ माता के गीता गाती हुई घर से खाली पैर निकल पड़ी। इस दौरान पुरूष टोकरियों घर में बनाएं पकवान, फल लेकर घाट की ओर निकले। महिलाएं रास्ते भर छठ माता के गीत गाते हुए मोहनराम तालाब के घाट पर पहुंची। यहां घाट पर ईख का घर बनाकर बड़ा दीपक जलाया। फिर महिलाओं ने छठी माता के गीत गाते हुए पूजन किया।


झालर, रंगीन बल्बों से सजा था घाट
इस दौरान घाट पर आकर्षक सजावट की गई थी। चारों तरफ रंगीन बल्बों, झालर और उड़ते गुब्बारे लगाए गए थे। हजारों की संख्या में महिलाएं अपने परिवार के साथ छठी माता के गीत गाते हुए नजर आई। महिलाएं भगवान सूर्य के उगने तक घाट पर छठी माता के गीत गाने के साथ छठी माता की कथा सुनती रहीं। इसके बाद जैसे ही भगवान सूर्य का उदय हुआ। व्रती महिलाओं ने जल में खड़े होकर उगते सूर्य को अर्घ्य दिया। इसी के साथ व्रती महिलाओं का व्रत समाप्त हो गया। और उन्होंने प्रसाद ग्रहण किया। इस दौरान घर के छोटे सदस्यों ने व्रती महिलाओं का पैर छूकर आर्शीवाद लिया। इसी के साथ चार दिवसीय छठ महापर्व का उत्साह के साथ समापन हो गया।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned