अर्थ ऑवर डे: बिजली के महत्व और पर्यावरण सुरक्षा के प्रति जागरूकता

प्रत्येक वर्ष मार्च के अंतिम शनिवार को मनाया जाता है

By: amaresh singh

Updated: 29 Mar 2019, 02:05 PM IST

शहडोल। अर्थ ऑवर डे प्रत्येक वर्ष मार्च माह के अंतिम शनिवार को मनाया जाता है। इस वर्ष 30 मार्च, 2019 को सभी जगह में रात्रि में अर्थ ऑवर डे मनाया जाएगा। साल 2018 में भारत द्वारा 'गिव अप टू गिव बैक नामक अभियान भी आरंभ किया गया। अर्थ ऑवर वल्र्ड वाइड फंड का एक अभियान है। जिसका मकसद लोगों को बिजली के महत्व के प्रति और पर्यावरण सुरक्षा के प्रति जागरुक करना है। इस अभियान को सतत्, किफायती, संचालन में मदद और लागत में कमी के प्रति उपभोग संस्कृति में परिवर्तन और व्यावहारिक बदलाव को ग्रहण करने के एक अवसर के रूप में देखा जाना चाहिये।
अर्थ ऑवर ग्रीन गुड डीड्स मूवमेंट का भी अभिन्न हिस्सा है जिसमें प्रत्येक व्यक्ति की यह जि़म्मेदारी है कि वह पर्यावरण और पृथ्वी की सुरक्षा एवं संरक्षण के लिये एक छोटा, स्वैच्छिक हरित कार्य करने का जिम्मा ले।
इसके लिये आवश्यक है कि प्रत्येक व्यक्ति पौधा लगाने, कूड़ें को छाँटने, दफ्तर जाने में साइकिल या कार-पूल का इस्तेमाल करने या फिर प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करने जैसे एक ग्रीन गुड डीड को रोज़ाना के रूटीन में अपनाए। अर्थ आवर पर्यावरण के लिये दुनिया का एक बड़ा आंदोलन है जिसमें दुनिया भर के लोग एक घंटे तक ग़ैर-जरूरी बिजली बंद करके जलवायु परिवर्तन के खिलाफ रुख अख्तियार करने के लिये एकजुट होते हैं।
अर्थ आवर प्रकृति के लिये विश्वव्यापी फंड-डब्ल्यूडब्ल्यूएफ की एक वैश्विक पहल है जिसमें रिकॉर्ड 178 देश शामिल होते हैं। वर्ष 2007 में सिडनी से सांकेतिक तौर पर आरंभ हुआ यह आंदोलन आज पर्यावरण के संबंध में विश्व का सबसे व्यावहारिक आंदोलन बन चुका है।

Show More
amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned