उगते और ढलते सूरज के बीच दिखेगा बांधवगढ़ किले का नजारा, इस पहाड़ी में रहता है बाघों का पहरा

उगते और ढलते सूरज के बीच दिखेगा बांधवगढ़ किले का नजारा, इस पहाड़ी में रहता है बाघों का पहरा
tummi

Shubham Singh | Updated: 13 Jul 2019, 10:54:13 PM (IST) Shahdol, Shahdol, Madhya Pradesh, India

वन विभाग ने टूरिज्म बोर्ड को भेजा था प्रस्ताव, हरी झण्डी मिलते ही तैयार किया कमरा

शहडोल। घुनघुटी पहाड़ी के छोटी तुम्मी गांव में वन विभाग और टूरिज्म बोर्ड ने इको पार्क तैयार किया है। पहाड़ी से हरियाली के बीच अब उगते और ढलते सूरज के साथ सीधे बांधवगढ़ किले का भी नजारा यहां से देखने को मिलेगा। वन विभाग ने फेसिंग कराते हुए सिटिंग और कई व्यवस्थाएं करते हुए यहां पर पर्यटकों के लिए इको पार्क तैयार कराया है। वन विभाग ने मप्र टूरिज्म बोर्ड को इसके लिए प्रस्ताव भेजा था। हरी झण्डी मिलते ही छोटी तुम्मी में पहाड़ के बीच एक पार्क तैयार कराया है। अलग-अलग जगहों से पहुंचने वाले पर्यटक यहां पिकनिक मना सकेंगे। अधिकारियों की मानें तो पांच से दस किमी में अभी तक जंगल भूमि थी। यहां पर्यटकों को बारिश और धूप में काफी दिक्कतें होती थी। अब इको पार्क तैयार होने से यहां पहुंचने वाले पर्यटकों को राहत रहेगी।


ईको पार्क में ये रहेंगी व्यवस्थाएं
- फेसिंग के साथ हरियाली के बीच बैठने के लिए बेहतर व्यवस्थाएं की गई हैं।
- बच्चों के खेलकूद के लिए झूले और अन्य मनोरंजक की व्यवस्था की जा रही है।
- बरामदा तैयार किया गया है। जहां पर्यटक खुद से कुछ भी बना सकेंगे।
- कैंटीन के साथ पार्किग भी तैयार की जा रही है। कुछ स्थानीय गाइड भी रहेंगे।
ग्रामीण चलांएगे कैंटीन, ग्राम पंचायत करेगी देखरेख
अधिकारियों के अनुसार, यहां कैंटीन भी संचालित की जाएगी। कैंटीन की जिम्मेदारी स्थानीय ग्रामीणों के पास होगी। इससे स्थानीय ग्रामीणों को रोजगार भी मिलेगा। इको पार्क की देखरेख ग्राम पंचायत और वन समिति संयुक्त करेगी। इसके लिए अधिकारियों की भी जिम्मेदारी तय की है।


पौधारोपण कर शुरूआत
इको टूरिस्ट में अधिकारियों द्वारा पौधारोपण कर शुरूआत की गई। सीसीएफ एके जोशी, कमिश्नर आरबी प्रजापति सहित कई अधिकारियों ने पौधारोपण किया। सीसीएफ डॉ एके जोशी ने कहा है कि यहां पूरी व्यवस्थाएं वन विभाग के द्वारा कराई जा रही है।

ईको बोर्ड को प्रस्ताव भेजा गया था। छोटी तुम्मी में ईको पार्क तैयार किया गया है। पर्यटकों को काफी राहत मिलेगी। साथ ही स्थानीय ग्रामीणों को भी रोजगार मिलेगा।
डॉ एके जोशी, सीसीएफ शहडोल

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned