मां कंकाली मंदिर में चैत्र नवरात्र पर नहीं होगा भंडारा

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए लिया गया निर्णय

शहडोल. संभागीय मुख्यालय से करीब दस किलोमीटर दूर स्थित मां कंकाली देवी मंदिर में चैत नवरात्र पर प्रति वर्ष होने वाला नौ दिनों का भंडारा इस बार स्थगित कर दिया गया है। तदाशय की जानकारी देते हुए मां कंकाली मंदिर की रसोई के सेवादार गोपालदास सराफ ने बताया है कि कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए इस बार नौ दिनों तक चलने वाले भंडारा कार्यक्रम को निरस्त किया गया है।
नवरात्र पर देवी मंदिरों में किए जाएंगे कोरोना के बचाव के उपाय
25 मार्च से शुरू होगा चैत्र नवरात्र,
शहडोल. आगामी 25 मार्च से शुरू होने वाले चैत्र नवरात्र पर्व की देवी मंदिरों में तैयारियां शुरू कर दी गई है। इस बार जहां एक ओर मंदिर प्रबंधन पर कोरोना के मद्देनजर विशेष व्यवस्थाएं करनी होगी। वहीं दूसरी ओर दर्शकों व भक्तों को भीड़भाड़ से बचने के उपाय करने होंगे। एसी स्थिति में वर्तमान में मंदिर प्रबंधन काफी पशोपेश में है। गौरतलब है कि संभागीय मुख्यालय के विराटेश्वरी धाम और समीपी ग्राम चंदनिया स्थित माता कंकाली मंदिर में दर्शकों व भक्तों की काफी भीड़ उमड़ती है। दुर्गामाता सेवा समिति के जयंतराज तिवारी ने बताया है कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए मंदिर में फ्लैक्स के माध्यम से दर्शकोंं व भक्तों को जागरूक किया जाएगा। साथ ही घंटों-घडियालों और रेलिंग सहित अन्य छूने वाली चीजों में सेनेटाइजर लगाए जाएंगे। साथ ही मंदिर में ज्यादा भीड़ एकत्रित होने से बचाव किया जाएगा।
कई शुभ संयोग में नाव पर सवार होकर आएंगी माता रानी
इस साल हिन्दू संवत्सर 2077 की शुरूआत 25 मार्च से होगी। इस बार चैत्र नवरात्र पर तीन दुर्लभ संयोग मेें नाव में सवार होकर मातारानी आएंगी। जानकारों के अनुसार इस वर्ष मातारानी पूरे नौ दिनों तक बिराजेगी और नौ दिनों तक पूरे विधि-विधान के साथ पूजा-अर्चना की जाएगी।

Corona virus corona virus in india
Show More
brijesh sirmour Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned