पानी लाने के लिए बना रहे थे नाली, लेकिन हो गई बड़ी दुर्घटना, तीन की मौत

पढि़ए पूरी खबर...

By: Akhilesh Shukla

Published: 24 May 2018, 11:33 AM IST

शहडोल- उमरिया से सटे सरसवाही गांव में उस वक्त एक बड़ी दुर्घटना हो गई, जब मिट्टी धसकने से तीन लोगों की मौत हो गई। यूं तो ये लोग पानी लाने के लिए नाली बना रहे थे जिससे कुएं तक पानी लाया जा सके, लेकिन उन्हें क्या पता था कि उनके साथ ऐसा बड़ा हादसा हो जाएगा, उन्हें अपने जान से भी हाथ धोना पड़ जाएगा।

 

ये है पूरी घटना

दरअसल उमरिया से सटे सरसवाही गांव में ग्रामीण जलसंकट से निपटने के लिए नजदीक में बहने वाली नदी से कुएं में पानी लाने का प्रयास कर रहे थे। इसके लिए ग्रामीणों ने नदी से कुंआ तक गहरी नाली का निर्माण कर रहे थे। और ये नाली लगभग खोद ही ली थी। तभी अचानक नाली की मिट्टी मिट्टी धसकने लगी, और गांव के तीन युवक उस मिट्टी में दब गए, जिसके चलते उनकी मौत हो गई। ह्रदयविदारक ये हादसा बुधवार की शाम ६ बजे के आसपास की बताई जा रही है।

 

पुलिस के अनुसार मुन्ना विश्वकर्मा अपने पारिवारिक भाई विनोद पिता नत्थू विश्वकर्मा और राजाराम विश्वकर्मा के साथ मिलकर मिट्टी खोद रहे थे। सभी भाईयों ने मिलकर नदी से कुंआ तक पानी लाने के लिए गहरी नाली खोदी थी और पाइप लाइन बिछाने की प्लानिंग की थी। मिट्टी की खुदाई करते वक्त अचानक कुआं के नजदीक मिट्टी धसकने लगी।

 

जिसमें मुन्ना पिता पप्पू विश्वकर्मा जिनकी उम्र 35 साल, विनोद पिता नत्थू विश्वकर्मा उम्र 35 साल, राजाराम पिता लसु विश्वकर्मा उम्र 33 साल उस मिट्टी में ही दब गए। इस दुर्घटना के बाद ग्रामीणों ने शोर करना शुरू कर दिया, जिसके बाद किसी तरह दो लोगों को बाहर निकाला गया। बाद में जेसीबी के माध्यम से तीसरे युवक को भी बाहर निकाला गया। आनन फानन में तीनों युवकों को परिजन अस्पताल तक लेकर पहुंचे लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

 

मौके पर कलेक्टर,एसपी

इस दुर्घटना की जानकारी जैसे ही मिली, तत्काल मौके पर कलेक्टर माल सिंह, और एसपी डॉक्टर असित यादव पहुंच गए, घटनास्थल का जायजा लिया और परिजनों से पूछताछ की।

Akhilesh Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned