वीडियो न बनाने पर अफसर की फटकार के बाद ब्रेन हेमरेज, अस्पताल में तोड़ा दम

पत्नी ने कार्रवाई की मांग की

By: shubham singh

Published: 16 May 2020, 09:59 PM IST

शहडोल। ब्रेन हेमरेज के बाद पुलिस लाइन में पदस्थ एक आरक्षक की उपचार के दौरान मौत हो गई है। परिजनों ने आरआई पर प्रताडि़त करने का आरोप लगाया है। प्रधान आरक्षक यूजीन मिंज मुख्यमंत्री के भ्रमण के शहडोल रीवा भ्रमण के दौरान वाहन चलाने का काम करते थे। परिजनों ने कहा कि पुलिस वाहन में डीजल भरवाते समय स्मार्ट फोन नहीं होने पर प्रधान आरक्षक वीडियो नहीं बना पाया था। इस पर आरआई ने फोन करके प्रधान आरक्षक मिंज को जमकर फटकार लगाई थी। इसके बाद फोन रखते ही प्रधान आरक्षक मिंज गिरकर बेहोश हो गए थे। परिजनों ने घटना के बाद उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती करवाया था। हालत गंभीर होने के बाद उन्हें रायपुर रेफर कर दिया गया था, जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई।


मौत से पहले पत्नी ने कार्रवाई के लिए एडीजीपी को सौंपा था ज्ञापन
प्रधान आरक्षक यूजीन मिंज की मौत से पहले उनकी पत्नी जिम्मा मिंज ने आरआई के खिलाफ एडीजीपी को ज्ञापन सौंपकर पति की गंभीर हालत का जिम्मेदार ठहराया था। दिए ज्ञापन में मांग करते हुए बताया कि रात में जब आरआई का फोन आया था तो घर में मैं भी अपने पति के साथ बैठी हुई थी। आरआई फोन में डीजल के संबंध में बोल रहे थे। उन्होंने मेरे पति से कहा कि वीडियो बनाकर क्यों नहीं लाये और गाली-गलौज करने लगे। इसके बाद बोले कि तुम्हारा जांच कराऊंगा। इसके बाद मेरे पति अचानक गिर गए एवं उठाने पर भी खड़े नहीं हो पा रहे थे। तो मैंने आस-पास के लोगों को बुलाकर उन्हें जिला अस्पताल भर्ती कराया है। मेरे पति को रायपुर रेफर किया गया है, उन्हें लेकर जा रही हूं। अगर उन्हें कुछ होता है तो इसके जिम्मेदार आरआई होंगे।

shubham singh Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned