दिनभर तपाया, शाम को हुई प्री-मानसून की झमाझम बारिश

एकाएक मौसम ने बदली करवट

By: shubham singh

Published: 07 Jun 2018, 08:52 PM IST

शहडोल। आसमान में छाए बादल शाम को झमाझम बरसे, आधे घंटे की बारिश ने ही शहर को तरबतर कर दिया। वार्डों की विभिन्न निचली बस्तियों में बारिश का पानी जमा हो गया। हालाकि प्री-मानसून की यह बौछारें लोगों को राहत लेकर आईं। दिनभर की तपन के बाद मौसम सुहाना हो गया। किसान भी मानसून आने का इंतजार कर रहे हैं। विशेषज्ञों की माने तो 15 से 20 जून के बीच शहडोल में मानसून दस्तक दे सकता है।
गुरुवार की सुबह ही उमस भरी गर्मी से हुई। पूरे दिन भीषण उमस महसूस की गई। कूलर-पंखों के सामने बैठे लोग भी पसीना पोंछते नजर आए। दोपहर में शहर का अधिकतम पारा ४२ डिसे दर्ज किया गया। शाम करीब ५ बजे तक पारा 40 के ऊपर ही बना रहा। शाम करीब ७ बजे तेज हवाओं के साथ बारिश शुरु हो गई। करीब ८ बजे तक शहर के अलग-अलग हिस्सों में पानी भर गया, रात करीब ९ बजे तक बारिश होती रही। नगर पालिका के बारिश के पूर्व की तैयारियों की भी पोल खुल गई।
आंधी-तूफान और बिजली ने ढाया कहर
शाम को अचानक आई तेज-आंधी तूफान ने शहर में कोहराम मचाया। कुछ जगहों पर विद्युत लाइनें फाल्ट हो गईं, शाम सात बजे से गुल हुई बिजली देर रात तक नहीं आई। बिजली अधिकारियों की माने तो लगातार एक सप्ताह से विद्युत लाइनों को खासा नुकसान हो रहा है। गुरुवार को भी शहर के लोग अंधेरे में रहे। तेज गर्जना के साथ बिजली भी तड़की।

नपा सीएमओ ने लिया जायजा
अचानक हुई बरसात के बाद नगर पालिका सीएमओ एके तिवारी ने रात ८ बजे कॉलेज के सामने बनी कॉलोनी, पांडवनगर, सोहागपुर मस्जिद के सामने, गोपाल डेरी के पास, न्यू गांधी चौक सहित अन्य वार्डों का जायजा लिया। इन क्षेत्रों में बारिश के दौरान लोगों के घरों तक पानी का भराव हो जाता है। सीएमओ ने स्टेडियम के पीछे निकलने वाले बड़े नाले का निरीक्षण कर पानी निकासी की स्थिती देखी। अन्य स्था इस मौके पर सफाई अमला भी मौजूद रहा।
किसानों और कृषि वैज्ञानिकों की बैठक
मानसून की आहत होते ही किसान खरीब फसलों की तैयारियों में लग गए हैं। खेतों को तैयार किया जा रहा है। वहीं शुक्रवार को कृषि विज्ञान केंद्र में क्षेत्रीय किसानों और जबलपुर से पहुंचने वाले कृषि वैज्ञानिकों की बैठक आयोजित की गई है। परामर्श दात्रि की बैठक में वैज्ञानिक खरीब फसल, रेशम, पशुपालन, सब्जी कृषकों को महत्वपूर्ण जानकारी देंगे।

---मानसून का इंतजार हो रहा है, किसान भी खरीब फसलों की तैयारी कर रहे हैं। किसानों को लेकर हमने बैठक भी बुलाई है।
पीएन त्रिपाठी
कृषि वैज्ञानिक शहडोल।

shubham singh Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned