scriptCollective participation is necessary in preparing children's armor | बच्चों का कवच तैयार करने में सामूहिक भागीदारी जरूरी | Patrika News

बच्चों का कवच तैयार करने में सामूहिक भागीदारी जरूरी

स्कूलों में कोविड जागरूकता अभियान चलाने कलेक्टर के निर्देश

शाहडोल

Published: December 31, 2021 08:55:00 pm

शहडोल. जिले में 15 से 18 वर्ष के सभी बच्चों का वैक्सीनेशन 3 जनवरी से कराया जाएगा। वैक्सीन लगाने के लिए पूर्व तैयारियों की समीक्षा करते हुए कलेक्टर वंदना वैद्य ने कहा कि जिले में 18 वर्ष के ऊपर के व्यक्तियों का वैक्सीनेशन सभी के सहभागिता से जो हुआ है वह प्रशंसा योग्य है। अब हम सबको मिलकर 3 जनवरी 2022 से 15 से 18 वर्ष के बच्चों का वैक्सीनेशन कराना है। इसके लिए सभी संबंधित अधिकारी अपनी तैयारियां पूर्ण कर लें। वैक्सीनेशन अपॉइमेंट ऑनलाइन या ऑनसाइड भी किया जा सकता है। वैक्सीनेशन स्थल पर पंजीकृत विद्यार्थियों के अतिरिक्त जो बच्चें 15 से 18 वर्ष के है और जो स्कूल नहीं जा रहे है उनका भी टीकाकरण किया जाएगा। बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए कि स्कूलों में कोविड जागरूकता अभियान चलाया जाए और कोविड संक्रमण के बचाव के लिए उन्हें शपथ भी प्रतिदिन दिलाई जाए तथा बच्चों को वैक्सीनेशन के फायदे बताते हुए उन्हें वैक्सीन लगवाने प्रेरित भी किया जाए।
चिन्हित कर बनाएं वैक्सीनेशन सेंटर
बैठक में कलेक्टर वंदना वैद्य ने कहा कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी शिक्षा विभाग के अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर स्कूलां, ऑगनवाडी केन्द्रों एवं ग्राम स्तरीय चिन्हित केन्द्रों में वैक्सीनेशन सेंटर बनाया जाए और अधिक से अधिक बच्चों का टीकाकरण कराकर बच्चों को कोरोना की महामारी से बचाएं। बैठक में शाला त्यागी बच्चों की जानकारी महिला एवं बाल विकास के ऑगनबाडी कार्यकर्ताओं से बच्चों के घर-घर दस्तक देकर एकत्रित करने कहा गया। साथ ही पालकों को भी सूचित करने तथा बच्चों को आवश्यक रूप से स्कूल भेजने की समझाईस दें। इसके साथ ही निजी विद्यालयों के बच्चों को शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए कव्हर करें।
स्कूलों में प्रतिदिन विद्यार्थियों को दिलाई जाएगी कोविड से बचने की शपथ
शहडोल. कलेक्टर वंदना वैद्य ने कोरोना वायरस की तीसरी लहर को देखते हुए स्कूलों में कोविड-19 जागरूकता अभियान चलाए जाने संबंधी आदेश जारी किया है। कलेक्टर ने पं. शम्भूनाथ शुक्ल विश्वविद्यालय, इन्दिरा गांधी कन्या महाविद्यालय प्रबंधन, जिला शिक्षा अधिकारी, सहायक आयुक्त जनजाति कार्य विभाग, जिला परियोजना समन्वयक जिला शिक्षा केन्द्र को आदेश जारी कर कहा है कि कोरोना वायरस की तीसरी लहर को देखते हुए कोविड जागरूकता अभियान चलाया जाए तथा शासकीय, अशासकीय विद्यालयों, महाविद्यालयों की प्रत्येक कक्षा में प्रतिदिन छात्र-छात्राओं को कोविड से बचाव और कोविड अनूकूल व्यवहार करा स्वयं पालन करने और दूसरों को इसके लिए प्रेरित करने की शपथ दिलाये। शिक्षण संस्थाओं में योग प्रशिक्षित शिक्षकों से स्कूल में अध्ययनरत छात्रों एवं गांव के रहवासियों ब्रीदिंग एक्सरसाइज प्रतिदिन कराई जावे। जैसे कपालभाति अनुलोम विलोम भ्रामरी, उद्गीथ आदि का अभ्यास कराया जाए। सभी छात्र-छात्राओं को एस्कार्बिक एसिड की जेनेरिक दवा भी शाला में दी जाये। शिक्षण संस्थान में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली पौष्टिक खादय पदार्थ जो कि कोरोना रोकथाम के लिये आवश्यक है का प्रत्येक दिवस स्कूल में मध्यान्ह भोजन एवं घर में उपयोग किया जाए।

Collective participation is necessary in preparing children's armor
Collective participation is necessary in preparing children's armor

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.