ट्रेन ले जाने को लेकर विवाद, आपस में भिड़े लोको पायलट, धक्का-मुक्की व मारपीट भी हुई

बहसबाजी के बाद ईएलपी में मारपीट, शहडोल का लोको पायलट ट्रेन लेकर रवाना हुए

By: amaresh singh

Published: 02 Mar 2021, 09:16 PM IST

शहडोल. रेलवे स्टेशन शहडोल में मंगलवार की सुबह ट्रेन ले जाने को लेकर लोको पायलट के बीच विवाद हो गया। जबलपुर और शहडोल के लोको पायलट व सहायक लोको पायलट ट्रेन ले जाने को लेकर अड़े रहे। देखते ही देखते विवाद इतना बढ़ गया कि शहडोल और जबलपुर के रेलवे कर्मचारियों के बीच मारपीट की स्थिति तक बन गई। एक-दूसरे को धक्का-मुक्की और मारपीट कर ट्रेन से नीचे तक उतर दिए। मारपीट के बीच जबलपुर के लोको पायलट को ट्रेन से नीचे उतार दिया गया। फिर शहडोल का लोको पायलट ट्रेन को लेकर कटनी तक गया। दरअसल शहडोल का लोको पायलट 18234 ट्रेन को लेकर सोमवार को जबलपुर लेकर जा रहा था। जैसे ही लोको पायलट ट्रेन को लेकर कटनी तक पहुंचा, उसे कटनी में ट्रेन से उतार दिया गया। इससे शहडोल के लोको पायलट में नाराजगी बढ़ गई थी। दूसरे दिन मंगलवार को जबलपुर का लोको पायलट शहडोल से ट्रेन लेकर जा रहा था तभी विवाद बढ़ गया। शहडोल के कर्मचारी ट्रेन पर चढ़कर आगे बढ़ा दिए थे। बाद में जबलपुर के कर्मचारी ने चढ़कर ट्रेन को रोक दिया। इससे विवाद बढ़ गया। हाथापाई की घटना को प्रबंधन भी दबाने में जुटा रहा ।

जबलपुर से ट्रेन लेकर आया था लोको पायलट
चीफ कंट्रोलर के अनुसार सोमवार को जबलपुर से लोको पायलट ट्रेन नंबर 1265 को लेकर शहडोल वर्किंग आया। इसके बाद मंगलवार को जबलपुर का लोको पायलट ट्रेन नंबर 1266 को लेकर जबलपुर जा रहा था। इस दौरान कटनी में ट्रेन से उतारे जाने से नाराज शहडोल के लोको पायलट ने उसी ट्रेन को लेकर जाने की बात कही। इस पर दोनों पायलट एक ही ट्रेन में चढ़ गए। दोनों के बीच ट्रेन ले जाने की बात को लेकर विवाद हो गया। इसी बीच दोनों के ईएलपी के बीच बहस हो गई और मारपीट तक हो गई। स्टेशन पर शहडोल के लोको पायलटों की भीड़ जमा हो गई। शहडोल के लोको पायलट ने जबलपुर के लोको पायलट को ट्रेन से उतार दिया और ट्रेन नंबर 1266 को लेकर कटनी रवाना हो गए।

नई वर्किंग को लेकर आपस में भिड़े कर्मचारी
अधिकारियों के अनुसार, पहले शहडोल का लोको पायलट कटनी तक ट्रेन लेकर जाता था। नए वर्किंग चालू हुआ तो शहडोल-जबलपुर के लिए और जबलपुर-शहडोल के लिए एक-एक ट्रेन मिली। शहडोल के लोको पायलट के लिए 8234 और 8233 ट्रेन को शहडोल से जबलपुर और जबलपुर से शहडोल लेकर जाना था। जबलपुर के लोको पायलट को 1265 और 1266 जबलपुर से शहडोल और शहडोल से जबलपुर लेकर जाना था। शहडोल के लोको पायलट को जबलपुर ट्रेन लेकर जाते समय कटनी में उतार दिए जाने से विवाद हो गया। शहडोल के लोको पायलटों की मांग है कि लोगों को भी पूरा काम जबलपुर तक कराया जाए। विवाद की वजह शहडोल के लोको पायलट को कटनी में उतारे जाने से शुरू हुआ।

इस संबंध में मेरे संज्ञान में कोई जानकारी नहीं है। अधिकारियों से बात करता हूं।
अंबिकेस साहू, पीआरओ
दपूमरे, बिलासपुर

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned