कोरोना ने छोटे व्यापारी-किसानों की कमर तोड़ी

गोदामों में भंडारित सब्जियां खराब, खेतों से नहीं उठ रही हैं सब्जियां

By: Hitendra Sharma

Updated: 28 May 2021, 09:09 AM IST

शहडोल. कोरोना संक्रमण के चलते सब्जी उत्पादक किसान और व्यापारियों को काफी नुकसान हो रहा है। सप्लाई चेन न होने और खपत कम होने की वजह से आर्थिक नुकसान झेलना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा असर छोटे व्यापारियों को हो रहा है। स्थिति यह है कि गोदामों में भंडारित सब्जियां खराब हो रही हैं। गुरुवार को बुढ़ार के एक व्यापारी ने लॉकडाउन के बीच खराब हो रही 50 से ज्यादा आलु की बोरियों को शहर से दूर फेंका है।

Must see: MP में कोरोना के ताजा आंकड़े

बुढ़ार के सब्जी व्यापारी आसुतोष मिश्रा बताते हैं, लॉकडाउन में सुबह मिली छूट के बावजूद होम डिलीवरी तक नहीं करने दिया गया। इसके चलते बड़ी मात्रा में आलू खराब हो गए। आरबी ट्रेडर्स के संचालक राम बल्लभ मिश्रा ने बताया कि लगभग 50 बोरे आलू खराब हो गए हैं। गोदाम में भरा था लेकिन होम डिलेवरी भी नहीं करने दी। एक बोरी आलू की कीमत 800 रुपए है। यही हाल अन्य व्यापारियों का हाल है। आसुतोष मिश्रा ने बताया कि गोदाम में रखे आलू खराब होने लगी थी। स्थिति यह थी कि पानी बाहर तक आ रहा था और बदबू उठने लगी थी। आसपास रहवासियों ने आपत्ति की। जिसके बाद बाहर जाकर आलुओं को फेंकना पड़ा।

Must see: बिना रजिस्ट्रेशन के 18 प्लस वालों को नहीं लगेगी वैक्सीन

कोरोना के ताजा हालात
शहडोल में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 9998 हो चुकी है। जबकि, 117 मरीजों की अब तक जान जा चुकी है। शहर में अब तक 9571 मरीज अब तक पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। जबकि अब तक शहर में 310 केस एक्टिव हैं। जबकि मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटों के भीतर कोरोना के 1977 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इसके बाद प्रदेश में अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 773855 हो गई है। वहीं, संक्रमण से मरने वालों की संख्या 7828 पहुंची है।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned