कोरोना संक्रमण : इस बार नहीं होगा रावण दहन, जुलूस और भंडारे पर प्रतिबंध

शांति समिति की बैठक में दशहरा उत्सव समिति ने लिया निर्णय

By: Ramashankar mishra

Published: 16 Oct 2020, 12:31 PM IST

शहडोल. कोरोना संक्रमण का मात देने के लिए कई नियम भी बदले जा रहे हैं। पहली बार दशहरा उत्सव समिति ने रावण दहन न करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही प्रसाद एवं भण्डारा की जगह मास्क वितरण का निर्णय लिया गया है। निर्णय दुर्गोत्सव तथा मिलादुन्नवी त्योहारो के मद्देनजर कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह की उपस्थित में शांति समिति की बैठक में लिए गए। नगर पालिका अध्यक्ष ने बताया कि दशहरा उत्सव समिति द्वारा रावण दहन कार्यक्रम न करने का निर्णय लिया गया है। लाउडस्पीकर भी रात्रि 8 बजे तक ही बज सकेंगे। कोई भी चल समारोह आयोजित नहीं होगा। मूर्ति विसर्जन के लिए 10 से अधिक लोग नहीं जा सकेंगे। मूर्ति विसर्जन का कार्य नगर पालिका द्वारा किया जाएगा। बैठक में कलेक्टर ने मूर्ति विर्सजन स्थल पर लाइट, टार्च, गोताखोर एवं सुरक्षा व्यवस्था करने के निर्देश दिए। नवरात्रि एवं मिलादुन्नवी के त्यौहार में किसी भी प्रकार के जुलूस आदि न निकले तथा लंगर आदि प्रतिबंधित है। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए कन्या भोज न कराएं। भोजन तैयार कर कन्याओं के घर भिजवाएं। बैठक में नपा अध्यक्ष उर्मिला कटारे, एसपी सत्येन्द्र कुमार शुक्ल, अपर कलेक्टर अर्पित वर्मा, संयुक्त कलेक्टर दिलीप पाण्डेय, उपाध्यक्ष नपा कुलदीप निगम, कार्यपालन यंत्री पीएचई एचएस धुर्वे, मुकेश सिंह, सीएमओ अमित तिवारी, राजेश्वर उदानिया, शानउल्लाह, राजेश गुप्ता, मनोज गुप्ता नीरज द्विवेदी, दिनेश अग्रवाल, हुसैन खान रहे। सभी तहसील के तहसीलदार एवं अन्य समाजसेवी उपस्थित थे।

Show More
Ramashankar mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned