दीनदयाल रसोई में ताला

गरीबों को नहीं मिल रहा भोजन

शहडोल. नपा के माध्यम से दो साल से चलाई जा रही दीनदयाल रसोई योजना पूरी तरह से बेपटरी हो गई है। 7अप्रैल से संभागीय मुख्यालय के पुराने बसस्टैंड में संचालित रसोई पुराने संचालक द्वारा की जा रही मनमानी के कारण नपा ने दीनदयाल रसोई में 30 अक्टूबर को ताला लगा दिया और अब 30 अक्टूबर से रसोई बंद होने से गरीबों को ५ रुपए में भर पेट भोजन मिलना बंद हो गया है। हालात ऐसे है कि अब गरीब दोपहर रसोई का चक्कर लगाकर बैरंग वापस आ रहे हैं, वहीं नपा द्वारा दीनदयाल रसोई योजना को संचालित करने के लिए अब तक कोई कारगर कार्रवाई नहीं की है, जिससे हर दिन लगभग 200-300- गरीब इस सुविधा से वंचित हो रहे हैं।
अब जिला स्तरीय समन्वय एवं अनुश्रवण समिति करेगी निर्धारण-
जानकारी में बताया गया है कि नपा के माध्यम से संचालित दीनदयाल रसोई योजना के संचालन का कार्य नए सिरे से कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित 24 मार्च 2017 को कलेक्टर द्वारा गठित कमेटी किसी अन्य सामाजिक संगठन अथवा एंजियो के माध्यम से संचालन कराना निश्चित करेगी। इस समिति में कलेक्टर, नपाअध्यक्ष, सीएमओ, खाद्य आपूर्ति अधिकारी उप संचालक सामाजिक न्याय, परियोजना अधिकारी शहरी विकास अभिकरण के अलावा सब्जी ब्यापारी संघ अध्यक्ष, अनाज व्यापारी संघ सहित समिति के अन्य सदस्य निर्णय लेंगे।
50 क्विंटल गेहूं और 22 क्विंटल चावल का आवंटन-
दीनदयाल रसोई योजना के संचालन के लिए नपा द्वारा हर महीने लगभग 50 क्विंटल गेहूं और 22 क्विंटल चावल का अवंटन हर महीने कराया जाता था, लेकिन रसोई बंद होने से अक्टूबर महीने का खाद्यान्न का उठाव भी नहीं हो पाया है। बताया गया है कि अब नए सिरेसे नपा द्वारा कमेटी के पास रसाई संचालन के लिए प्रस्ताव भेजा जाएगा और इसके बाद अनुश्रवण समिति अन्य किसी व्यक्ति को संचालन की जवाबदारी देगी। जब तक समिति अन्य किसी व्यक्ति को रसोई संचालन की जवाबदही तय नही करेगी तक तक गरीबों को सस्ते दर पर भोजन मिलने का इंतजार करना होगा।
समिति लेगी निर्णय
दीनदयाल रसोई योजना में अनियमितता के कारण बंद कराई गई है। जल्द ही मामला कलेक्टर के पास भेजा जाएगा और इसके बाद नए सिरे से रसोई का संचालन किया जाएगा।
अजय श्रीवास्तव
सीएमओ

lavkush tiwari
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned