scriptDoctors saved life of 4 day girl by changing her blood drop by drop | जीत गई जिंदगी : मासूम को बचाने 140 इंजेक्शन से बूंद-बूंद बदला खून | Patrika News

जीत गई जिंदगी : मासूम को बचाने 140 इंजेक्शन से बूंद-बूंद बदला खून

- डेंजर जोन में पहुंच गया था पीलिया, ब्रेन तक पहुंच गया था संक्रमण, तीन घंटे चला ऑपरेशन

शाहडोल

Updated: January 09, 2022 07:17:11 pm

शहडोल. सरकारी अस्पताल शहडोल में डॉक्टरों ने बड़ा इलाज करते हुए पीलिया के डेंजर जोन में पहुंच चुकी चार दिन की नवजात बालिका की जान बचाई है। मासूम पीलिया से चपेट में आने के बाद अंतिम सांसें ले रही थी। जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने तीन घंटे तक ऑपरेशन करते हुए 140 से ज्यादा इंजेक्शन लगाकर बूंद-बूंद खून बदला। इसके बाद मासूम की जान बचाई जा सकी।

shahdol.jpg

ब्रेन तक पहुंच गया था संक्रमण
जयसिंहनगर के लफरी गांव निवासी किरण यादव पति पिंटू यादव ने एक बालिका को जन्म दिया था। बालिका जन्म के बाद से ही पीलिया की चपेट में आ गई थी। बालिका का पीलिया 36 मिलीग्राम पर डेसीलीटर पहुंच गया था। जबकि सामान्य पांच से ज्यादा नहीं होता है। 15 से ऊपर होने पर ब्रेन के साथ जान के लिए खतरा रहता है। डेंजर जोन में पीलिया होने की वजह से गंभीर अवस्था में 23 दिसम्बर को रात बजे जिला चिकित्सालय शहडोल के एसएनसीयू में भर्ती कराया गया था। यहां पर डॉक्टर सुनील हथगेल इलाज कर रहे थे लेकिन हालत में सुधार नहीं आ रहा था। बालिका की अंतिम सांसें चल रही थी तभी डॉक्टरों ने ऑपरेशन का निर्णय लिया। डॉक्टरों ने परिजनों से सहमति ली कि बालिका का बूंद-बूंद खून बदला होगा।

यह भी पढ़ें

कोरोना पॉजिटिव पेशेंट दोस्तों के साथ घर में छलका रहा था जाम,अचानक पहुंच गई तहसीलदार




बूंद-बूंद बदला खून और बचा ली जिंदगी
ऑपरेशन के लिए परिजन की सहमति मिलने के बाद ब्लड की व्यवस्था की गई और रात में ही ऑपरेशन की तैयारियां की गईं। ढाई से तीन घंटे तक बालिका का ऑपरेशन चला। डॉ सुनील हथगेल के अनुसार 70 इंजेक्शन के माध्यम से बालिका के शरीर के भीतर से पांच-पांच एमएल खून निकाला गया और 70 इंजेक्शन के माध्यम से नया ब्लड दिया। अब बालिका पूरी तरह स्वस्थ है और उसे डिस्चार्ज करने की तैयारी की जा रही है। टीम में डॉ. सुनील कुमार हथगेल एसएनसी इंचार्ज अपर्णा सिंह विभा सक्या, ज्ञानेश्वरी देशमुख, यशोला बनोटे, प्रज्ञा ठाकुर रहे।

यह भी पढ़ें

विदेशी कॉलगर्ल्स का काला सच, देह व्यापार के लिए लड़के से बने लड़कियां


प्राइवेट अस्पताल में ले गए थे परिजन
अस्पताल प्रबंधन के अनुसार, परिजन पहले निजी अस्पताल में बालिका को इलाज कराने ले गए थे। यहां भी हालत में सुधार नहीं आया और हालत बिगड़ती गई तो अस्पताल लेकर पहुंचे थे। डॉक्टरों के अनुसार, डबल वाल्यूम ब्लड एक्सचेंज ट्रांसफ्यूजन खून बदलने की प्रक्रिया है। पूरा खून बदलकर नया खून चढ़ाया गया। सेंटर लाइन बनाई गई थी। बताया गया कि बालिका स्तनपान नहीं कर रही थी। नली से आहार दे रहे थे। अब स्तनपान में सक्षम है।

देखें वीडियो- कोरोना पेशेंट की घर में दोस्तों संग शराब पार्टी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Thailand Open: PV Sindhu ने वर्ल्ड की नंबर 1 खिलाड़ी Akane Yamaguchi को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगहIPL 2022 RR vs CSK Live Updates: रोमांचक मुकाबले में राजस्थान ने चेन्नई को 5 विकेट से हरायासुप्रीम कोर्ट में अपने लास्ट डे पर बोले जस्टिस एलएन राव- 'जज साधु-संन्यासी नहीं होते, हम पर भी होता है काम का दबाव'ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनCBI रेड के बाद तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा - 'ऐ हवा जाकर कह दो, दिल्ली के दरबारों से, नहीं डरा है, नहीं डरेगा लालू इन सरकारों से'Ola-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार के लिए भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाईHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.