चिकित्सकों की कमी से बड़े शहरों की अस्पताल में रेफर हो रहे मरीज , चिकित्सको की खल रही कमी

चिकित्सकों की कमी से बड़े शहरों की अस्पताल में रेफर हो रहे मरीज , चिकित्सको की खल रही कमी

shivmangal singh | Publish: Sep, 07 2018 08:57:50 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा इंतजाम लचर

चिकित्सकों की कमी से बड़े शहरों की अस्पताल में रेफर हो रहे मरीज , चिकित्सको की खल रही कमी

शहडोल. जिले की आदिवासी अंचल में स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जिला चिकित्सालय के अलावा ब्यौहारी में 100 विस्तरा सिविल अस्पताल और 7 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र संचालित है। इतना ही नहीं इसी के साथ 29 प्राथमिक ओर 226 उपस्वास्थ्य केन्द भी खोले गए है। लेकिन चिकित्सको की कमी से जिले के लोगों को समुचित इलाज नहीं मिल रहा है। जिले में विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी से लोगों को इलाज कराने के लिए जबलपुर, बिलासपुर के साथ नागपुर के अस्पतालों का सहारा लेना पड़ रहा है। जिससे गरीबों को समय पर इलाज उपलबध नहीं हो पा रहा है।
जिले में अस्पतालों की सख्या

जिला चिकित्सालय -१
सिविल अस्पताल -१
साुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र- ७
प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र- २९
उपस्वास्थ्य केन्द्र - २२६

चिकित्सक
स्वीकृत पदस्थापना
85 61
विशेषज्ञ चिकित्सक
स्वीकृत पदस्थापना
72 7
पैरा मेडिकल स्टॉप
स्वीकृत पदस्थापना
नर्स 177 149
एएनएम २७४ २२१
एचयलभ ४० १६
मेल सुपरवाइजर२८ २०
एमपीडब्लू १६९ ७५

तहसील और जनपद मुख्यालय क्षेत्रों में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्दों में वर्षो से विशेषज्ञ चिकित्सको के पद खाली है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में तो चिकित्सको की बारी-बारी से ड्यूटी लग रही है। उप स्वास्थ्य केन्द्रों में कहीं नर्स तो कहंी कम्पाउंडर सुबह शाम खोल और बंद कर रहे है। जिसके चलते ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों को संभागीय मुख्यालय जिला चिकित्सालय की शरण लेनी पड़ रही है। जिले में पहले ६७ चिकित्सक पदस्थ रहे। वर्तमान में उसमें भी छह और कम हो गए है। यहां भी विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी से मरीजों को बड़े शहरों में रेफर किया जा रहा है।

समिति की बैठक में जनहित के मुद्दो पर की गई चर्चा
दीनदयाल अन्त्योदय समिति की शुक्रवार को नगरपालिका परिषद में बैठक बैठक आयोजित की गई। जिसमे विभिन्न जनहित के मुद्दो पर चर्चा की गई । इस बैठक में दीनदयाल अन्त्योदय समिति के अध्यक्ष रामचन्द्र मिश्रा, समिति के सदस्य मूलचन्द्र बाधवानी, रवीन्द्र सिंह काकू, रवीन्द्र कुमार वर्मा, राजेश कटारे, वृन्दन नगराले, सावित्री रजक, मंजीत कौर मान, मोनू चौहथा एवं मुख्य नगरपालिका अधिकारी एके तिवारी, खाद्य विभाग के एमएस खान नगरपालिका परिषद शहडोल से उपयंत्री देवकुमार गुप्ता, स्वच्छता निरीक्षक मोतीलाल सिंह, गोमती प्रसाद सिंह सहायक वर्ग 2, राजस्व प्रभारी राजमणि शर्मा, एनयूएलएम यश रजक, उपस्थित थे।

Ad Block is Banned