ये हैं जयसिंहनगर विधानसभा क्षेत्र से टिकट की दावेदार, ये है इनका विजन

ये हैं जयसिंहनगर विधानसभा क्षेत्र से टिकट की दावेदार, ये है इनका विजन

Shiv Mangal Singh | Publish: Oct, 13 2018 01:43:54 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

दिव्या सिंह कांग्रेस से मांग रहीं टिकट, पिता भी रह चुके हैं विधायक

शहडोल. विधानसभा क्षेत्र जयसिंह नगर से दिव्या सिंह कांग्रेस से टिकट की दावेदार हैं। वे काफी पहले से चुनाव की तैयारी भी कर रहीं हैं। उनके पिता भी विधायक रह चुके हैं। पत्रिका ने उनकी दावेदारी पर उनके विजन के बारे में जाना। पत्रिका अपने पाठकों से उनके विचार भी साझा कर रहा है, जिससे मतदाता भी जान लें कि जो टिकट का दावेदार है, जो क्षेत्र की रहनुमाई के लिए दावेदारी कर रहा है, उसका क्षेत्र के बारे में क्या विचार है और क्या विजन है।
उद्योग शिक्षा और स्वास्थ्य पर करेंगी फोकस
जिले की विधानसभा जयसिंहनगर ने टिकट की दौड़ में युवा नेत्री दिव्या सिंह का क्षेत्र में उद्योग, लडख़ड़ाई शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था के साथ बिजली, पेयजल मुद्दा मुख्य विजन हैं। दिव्या सिंह का कहना है कि इन मुद्दों पर फोकस कर लें तो आने वाले दस सालों में शहडोल मॉडल विधानसभा में शामिल हो सकता है। जयसिंहनगर विधानसभा में एक भी भी बड़ा उद्योग नहीं हैं। यहां मजदूरों को हर साल पलायन करना पड़ता है। रोजगार की तलाश में मजदूर अन्य प्रांत में जाते हैं। उद्योग न होने से काफी पिछड़ा भी है। उधर विधानसभा में पेयजल एक बड़ा मुद्दा है। यहां पर कॉलरी के पानी से घरों में पेयजल सप्लाई किया जाता है लेकिन भविष्य का कोई प्लान नहीं है। कांग्रेस नेत्री दिव्या सिंह का मानना है कि पहले इन मुद्दो पर फोकस करना चाहिए। उधर दिव्या सिंह का गांवों की सरकारी स्कूलों की व्यवस्था सुधारना विजन का मुख्य है। गांवों में स्कूलें तो हैं लेकिन शिक्षकों की कमी से अक्सर बंद रहते हैं। यहां ७० फीसदी स्कूलों में शिक्षकों का अभाव है। स्कूलों में गिनती के छात्र- छात्राएं ही कक्षाओं में पहुंचते हैं। इसके अलावा गांवों के अस्पताल सिर्फ रेफर सेंटर बनकर साबित हो रहे हैं। गांवों में आदिवासी परिवार पेंशन और तमाम योजनाओं के लाभ के लिए भटक रहा है। किसी की वृद्धावस्था पेंशन नहीं मिलती तो किसी के विकलांग बच्चों मेडिकल न बनने से भटकता है। इन मुद्दो पर भी फोकस करना चाहिए। विधानसभा में खनन माफिया सक्रिय हैं। खनिजों का दोहन होरहा है। लगातार प्रकृति के साथ छेड़छाड़ हो रही है। चुनावी विजन में खनन पर शिकंजा कसना भी मुख्य रहेगा। दिव्या सिंह के अनुसार, समग्र विकास के लिए सिंचाई, बिजली एवं आवागमन के साधन आवश्यक है। इसके अलावा शिक्षा एवं बच्चों के खेल कूद के मैदान व खेलकूद की सामग्री की व्यवस्था, स्वास्थ की सुविधा, छोटे-मोटे लघु उद्योग स्थापित हो ताकि बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध हो सके और महिला अपराधों में कमी लाने ध्यान देना होगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned