scriptFarmer had spread electric current in the enclosure, elephant died due | किसान ने बाड़ी में फैलाया था करंट, चपेट में आने से हाथी की मौत | Patrika News

किसान ने बाड़ी में फैलाया था करंट, चपेट में आने से हाथी की मौत

locationशाहडोलPublished: Feb 02, 2024 12:48:20 pm

Submitted by:

Ramashankar mishra

अनूपपुर वन परिक्षेत्र के ग्राम पंचायत कांसा की घटना, विभागीय अमला कर रहा जांच

किसान ने बाड़ी में फैलाया था करंट, चपेट में आने से हाथी की मौत
किसान ने बाड़ी में फैलाया था करंट, चपेट में आने से हाथी की मौत

शहडोल/अनूपपुर. जिले में हाथियों का समूह बीते कई महीनों से किसानों के फसलों तथा घर को नुकसान पहुंचा रहा है। वर्तमान में तीन हाथी जिले की अलग-अलग वन क्षेत्रों में घूम रहे हैं। गुरुवार को एक हाथी की किसान के घर में करंट की चपेट में आने से मौत हो गई। अनूपपुर जिले के अनूपपुर वन परिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत कांसा के वार्ड नंबर 13 निवासी लालजी कोल पिता हरदीन कोल की बाड़ी में गुरुवार की सुबह 4 बजे के लगभग केला खाने आए दो हाथियों में छोटे नर हाथी की करंट की चपेट में आने से मौत हो गई। घटना की जांच के लिए शहडोल से डाक स्क्वॉड पहुंचा। जांच में यह तथ्य सामने आया कि किसान ने जानबूझकर हाथी को चोट पहुंचाने के उद्देश्य से करंट बिछाया था जिसकी चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। वन्य अपराध दर्ज करते हुए किसान से पूछताछ की जा रही है। मृत हाथी के पोस्टमार्टम के लिए संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान एवं मुकुंदपुर सफारी से चिकित्सकों का दल पहुंचा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के पश्चात मामले में विभाग अग्रिम कार्यवाही करेगा।
लापरवाह कर्मचारियों पर नहीं हुई कार्रवाई
अनूपपुर जिले में लगातार हाथियों का आवागमन बना हुआ है जिसको लेकर शुरू से ही वन विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों की लापरवाही देखने को मिल रही है। हाथी का समूह ग्रामीण सहित नगरीय क्षेत्र में विचरण करने के दौरान स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा हाथियों को दौड़ाने, उन्हें परेशान करने तथा बलपूर्वक उन्हें भगाने का वीडियो सोशल मीडिया पर कई बार वायरल हो चुका था। इसके बावजूद इस मामले पर वन विभाग के अधिकारी लापरवाही बरत रहे थे। हाथियों के विचरण क्षेत्र में बीट गार्ड के साथ ही वनरक्षक एवं अन्य जिम्मेदार लगातार नदारत रहते थे जिसके कारण यह घटना घटित हुई।
इनका कहना है
मामले की जांच की जा रही है, किसान के द्वारा जानबूझकर करंट लगाया गया था, जिसकी वजह से हाथी की मौत हुई। वन्य अपराध दर्ज करते हुए मामले की जांच की जा रही है। अधिकारियों कर्मचारियों की लापरवाही की जांच भी की जाएगी।
एसके प्रजापति, डीएफओ अनूपपुर

ट्रेंडिंग वीडियो