10 वर्षीय बेटी के सामने पिता की हत्या सड़क हादसे में मौत की रची झूठी कहानी

पुलिस को भी उलझाया लेकिन 8 घंटे में पुलिस ने सुलझा ली मिस्ट्री

By: amaresh singh

Published: 14 Jan 2021, 11:51 AM IST

शहडोल/ बुढ़ार. थाना अंतर्गत पकरिया चौराहे पर बाइपास मार्ग में एक युवक की मौत मामले की मिस्ट्री पुलिस ने सुलझा ली है। युवक की हत्या के बाद सड़क हादसे का रूप दिया जा रहा था। दरअसल हाईवे पर मंगलवार की रात लगभग 9.30 बजे सूचना मिली थी कि बाइपास मार्ग में सड़क दुर्घटना हो गई है। पुलिस के पहुंचने पर एक युवक अचेत अवस्था में पड़ा था। महिला और दस वर्षीय बालिका भी नजदीक थे। शुरू से ही पुलिस को पहले ही संदेह हो गया था कि सड़क हादसा नहीं, बल्कि हत्या है। एएसपी मुकेश वैश्य, एसडीओपी भरत दुबे थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह चौहान ने बुधवार को हत्या का खुलासा किया है। एएसपी ने बताया कि महिला से पूछताछ करने पर पति मुकेश सिंह की सड़क हादसे में मौत होना बता रही थी लेकिन कड़ाई से पूछताछ करने पर हत्या की वारदात स्वीकार की। बताया गया कि पति की हत्या कराने का षडय़ंत्र खुद पत्नी ने ही रचा था। पुलिस ने बताया कि मुकेश की अमित सिंह से गहरी मित्रता थी। इसी बीच मुकेश की पत्नी से नजदीकियां बढ़ गई थी। मंगलवार को मुकेश अपनी पत्नी के साथ शहडोल गया था। इसी दौरान लौटते वक्त मुकेश के साथ अमित सिंह द्वारा अपने साथी भोलू केवट के साथ मिलकर बेरहमी से मारपीट की गई। जिससे मुकेश की मौत हो गई।


बाइक और मोबाइल भी कर दिए थे गायब
पुलिस के अनुसार, आरोपियों ने कई शातिर तरीके अपनाए थे लेकिन पुलिस की सख्ती से जुर्म कबूल लिया। बताया गया कि पत्नी सड़क हादसे में मौत बता रही थी जबकि बाइक और मोबाइल गायब थे।


इनकी रही भूमिका
बुढ़ार महेन्द्र सिंह चौहान, कलीराम परते, रत्नांबर शुक्ला बृजेन्द्र मिश्रा सुभाष दुबे, एसआई उपेन्द्र त्रिपाठी आशीष झारिया, बलराम सिंह, विकास सिंह, अर्चना धुर्वे, ए.एस.आई. वेद प्रकाश तिवारी, प्रधान आरक्षक हरीकिषोर रहे।
रामेश्वर पाण्डेय, आरक्षक दिव्य प्रकाष, भागवत प्रताप सिंह, मयंक मिश्रा, मिठायल की भूमिका रही।
सोहागपुर थाना अंतर्गत एक युवक ने घरेलु विवााद पर भाई की ही हत्या कर दी। पुलिस के अनुसार, सूचना मिली थी कि राजभान सिंह उर्फ पप्पू निवासी गोरतारा झिरिया टोला सोहागपुर को उदयभान उर्फ बबलू लाठी डण्डे से मारकर हत्या कर दी गई हैं। बताया गया कि 12 जनवरी की शाम पप्पू उर्फ राजभान अपने बड़े भाई बबलू उर्फ उदयभान के घर आकर विवाद कर रहा था। पुलिस के अनुसार, रिश्तेदारी में निधन के बाद शामिल न होने को लेकर विवाद शुरू हुआ था। बाद में दोनों अलग हो गए थे। इसी दौरान घायल अवस्था में पप्पू मिला। बताया गया कि उदयभान उर्फ बबलू ने छोटे भाई पप्पू की हत्या कर घर से भाग गया था। पुलिस ने आरोपी उदयभान को गिरफ्तार कर लिया है।
कार्यवाही में थाना प्रभारी सुदीप सोनी, एसआई उमाशंकर, एएसआई शुभबंत, सुरेश, राकेश शुक्ला, अजीत, गजरूप, सुनील एवं राजेन्द्र की भूमिका रही।

पत्नी ने बनाई थी प्लानिंग, भोलू को दिए 50 हजार
आरोपी अमित ने मुकेश सिंह की हत्या उसकी पत्नी के साथ योजना बनाकर स्वीकार की है। आरोपी ने अपने साथी भोलू केवट निवासी इमली टोला के साथ वारदात अंजाम दिया था। आरोपी द्वारा हाथ पैर तोडऩे के एवज में भोलू को 50 हजार रुपए देने की बात कही थी लेकिन ज्यादा चोट आने की वजह से मौत हो गई। पुलिस ने मुख्य आरोपी अमित सिंह निवासी अम्बेडकरनगर बुढ़ार, भोलू केवट निवासी इमली टोला बुढ़ार, प्रियंका सिंह को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया।


युवक की हत्या, गले की हड्डियां टूटी
जिले में एक साथ तीसरी हत्या की वारदात जयसिंहनगर के गांव होडरहा की है। यहां पर राजेन्द्र उर्फ राजू सिंह गोड़ 35 का शव गांव में मिला है। पुलिस ने संदेहियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार, युवक के गले में अंदरूनी चोट है। बताया जा रहा है कि सिर से गले तक जुडऩे वाली हड्डी भी टूट गई है। आशंका जताई जा रही है कि गले पर कई बार युवक के वार किया गया है।
जिसके चलते अंदरूनी चोट होने की वजह से मौत हो गई है। पुलिस संदेहियों से पूछताछ कर सुराग जुटा रही है। इस दौरान पुलिस को कई सुराग भी मिले हैं। पुलिस पीएम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned