पहले विवाद हुआ, और फिर उसके बाद जो हुआ खौफनाक मंजर था वो

पहले विवाद हुआ, और फिर उसके बाद जो हुआ खौफनाक मंजर था वो

shivmangal singh | Publish: Feb, 15 2018 01:37:54 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

पढि़ए पूरी खबर

शहडोल- कभी-कभी ज्यादा गुस्सा भी खतरनाक हो जाता है, इसीलिए हमेशा समझदारी से काम लेना चाहिए। इस वारदात की कहानी जानने के बाद आप भी सोचेंगे कि इतना गुस्सा किस काम का, जिसके बाद आप गुनहगार बन जाओ और फिर आप सीधे सलाखों के पीछे पहुंच जाओ। क्राइम की ये पूरी कहानी भी कुछ ऐसी ही है। जिसमें एक पुराने विवाद के चलते पहले कहा सुनी होती है, फिर विवाद गहराता है तो इतना गहरा जाता है कि एक युवक को अपनी जान से हाथ धोना पड़ता है।

पहले विवाद हुआ, और फिर जब विवाद गहराया तो आरोपियों ने युवक पर लाठी-डंडे से हमला कर दिया। और फिर उस युवक को अपने जान से हाथ धोना पड़ा। बुढ़ार थाना क्षेत्र के अंतर्गत केशवाही पतेराटोला सिधली गांव में पुराने विवाद पर दबंगों ने एक युवक को पीट- पीटकर मौत के घाट उतार दिया।

वारदात 12 फरवरी की देर रात की है। जिसकी शिकायत पतेराटोला निवासी तेरसिया बाई महरा ने पुलिस के समक्ष दर्ज कराई थी। पीडि़ता ने पुलिस को बताया कि 12 फरवरी को पुत्र पप्पू महरा खाना खाकर घर से बाहर घूमने गया था। जहां पर पुराने विवाद को लेकर रामदीप महरा, परमेश्वर महरा, जेठू महरा, कृष्णकुमार उर्फ मोटू और बाबी महरा ने विवाद शुरू कर दिया था। देखते ही देखते आरोपियों ने युवक पप्पू महरा पर लाठी डंडे से हमला कर दिया था।

पुलिस के अनुसार शरीर के हिस्सों में गंभीर चोट होने के कारण युवक की मौत हो गई थी। एसपी के निर्देशन में एसडीओपी एसएस बघेल एवं टीआई प्रफुल्ल राय के निर्देशन में टीम बनाई गई। पुलिस ने 36 घंटे के भीतर ही गांव में दबिश देकर पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने पांचों आरोपियों को 14 फरवरी को न्यायालय में पेश किया, जहां से सभी को जेल भेज दिया गया है। इसमें एसआई योगेन्द्र सिंह परिहार, डीएस बागरी, शिवप्रसाद, प्रधान आरक्षक शिवराज, अहिराज, भूपेन्द्र सिंह, दीपक तिवारी, सुरेन्द्र सिंह, रामनाथ, कुशल सिंह की भूमिका रही।

पहले भी हो चुका था गांव में विवाद
पुलिस के अनुसार युवक पप्पू महरा का पूर्व में भी विवाद हो चुका था। पप्पू महरा अक्सर विवाद करता था। इसी बात से तंग आकर आरोपियों ने मिलकर लाठी से पीट- पीटकर हत्या कर दी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned