कोल्ड ड्रिंक्स के लाइसेंस पर बेच रहा था दवाइयां, फिर हुआ ये हाल

कोल्ड ड्रिंक्स के लाइसेंस पर बेच रहा था दवाइयां, फिर हुआ ये हाल

shivmangal singh | Publish: Sep, 05 2018 09:03:47 PM (IST) | Updated: Sep, 05 2018 09:03:48 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

झोलाछाप डॉक्टरों पर शिकंजा

शहडोल. मौसम में उतार चढ़ाव के बीच बढ़ती बीमारियों में झोलाछाप डॉक्टरों ने भी गांवों में अपना नेटवर्क तगड़ा कर लिया है। लगातार मिल रही शिकायतों के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गोहपारू और खन्नौधी में दबिश देकर कार्रवाई की। यहां पर टीम ने दो झोलाछाप डॉक्टरों के यहां से 83 से ज्यादा प्रकार की दवाईयां जब्त की हैं। कहीं झोलाछाप डॉक्टर मलेरिया का इलाज कर रहे थे तो कहीं पर उल्टी दस्त के मरीजों को ग्लूकोज की बॉटल लगाई गई थी। बीएमओ बुढ़ार डॉ सचिन कारखुर और रोगोपचार प्रभारी राकेश श्रीवास्तव ने पहली कार्रवाई गोहपारू के जीपी समझदार के यहां कार्रवाई की। यहां पर टीम ने 54 तरह की दवाईयां जब्त की हैं। इसी तरह दूसरी कार्रवाई खन्नौधी में प्रकाश तिवारी की क्लीनिक में की। यहां पर टीम ने 29 प्रकार की दवाईयों को जब्त किया है। रोगोपचार प्रभारी राकेश श्रीवास्तव के अनुसार, दोनों क्लीनिकों में बिना डिग्री और डिप्लोमा के मरीजों का इलाज कर जान से खिलवाड़ किया जा रहा था। स्वास्थ्य विभाग की टीम उस वक्त अचंभे में आ गई, जब प्रकाश तिवारी पिछले कई सालों से कोल्डडिं्रक्स के लाइसेंस में दवाइयां बेचकर मरीजों का इलाज कर रहा था। दस्तावेज मंगाने पर प्रकाश तिवारी ने लाइसेंस दिखाया। टीम ने फूड विभाग से जांच कराई तो लाइसेंस कोल्डडिं्रक्स और अन्य शीतल पेय पदार्थो की बिक्री का निकला।


टीम को लोगों ने घेरा, नहीं पहुंची पुलिस
कार्रवाई के लिए गांव पहुंची टीम के साथ पुलिस का तालमेल बेहतर नहीं था। आदेश के बाद भी पुलिस का गैर जिम्मेदार रवैया था। टीम के अनुसार, कार्रवाई के लिए पहुंचे तो डेढ़ घंटा तक गोहपारू थाने में इंतजार करना पड़ा। खन्नौधी में विवाद की स्थिति बनी। यहां पर कार्रवाई के दौरान तीन दर्जन लोग पहुंच गए। टीम की मानें तो थाने में मौजूद मुंशी ने कहा कि एसपी साहब का निर्देश है, जब तक कार्यालय से आदेश नहीं आता, कोई पुलिसकर्मी नहीं जाएगा। मजबूरन सामान्य कार्रवाई के बाद लौटना पड़ा।

Ad Block is Banned