मेडिकल कॉलेज में चार कोरोना मरीजों की मौत

तीन दिन में 9 कोरोना मरीजों की हुई मौत

By: amaresh singh

Published: 12 Sep 2020, 12:03 PM IST

शहडोल। मेडिकल कॉलेज में कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या अब बढऩे लगी है। शुक्रवार रात और शनिवार सुबह में मेडिकल कॉलेज में कोरोना से चार मरीजोंं की मौत हो गई है। पिछले तीन दिन में मेडिकल कॉलेज शहडोल में अब तक कोरोना से 9 लोगों की मौत हो चुकी है। 24 घंटे में हुई चार मौत में तीन मरीज शहडोल के शामिल हैं, जबकि एक मरीज उमरिया का था।

सांस लेने में हो रही थी दिक्कत
शहडोल शहर के रहने वाले 81 वर्षीय वृद्ध को 30 अगस्त को तबीयत खराब होने पर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। इसके बाद इनकी कोरोना की जांच हुई तो वे पॉजिटिव मिले। इनको बीपी और शुगर की बीमारी पहले से थी। तीन दिन पहले इनको बुखार आया। इसके बाद से इनको सांस लेने में दिक्कत होने लगी। इस पर इनको वेंटिलेटर पर आईसीयू में रखा गया लेकिन इलाज के बाद भी इनकी तबीयत नहीं सुधरी और शुक्रवार रात में 3.10 बजे इनकी मौत हो गई।

शहडोल शहर के ही 49 वर्षीय अधेड़ की शुक्रवार को तबीयत खराब होने पर परिजनों ने मेडिकल कॉलेज में इलाज के लिए भर्ती कराया। भर्ती होने के समय से ही इनकी तबीयत बेहद खराब थी। इनको पिछले चार-पांच दिन से लगातार बुखार आ रहा था। इसके बाद इनको सांस लेने में दिक्कत होने पर वेंटिलेटर पर रखा गया लेकिन इनकी हालत में सुधार नहीं आया और शुक्रवार रात 3.30 बजे लगभग इनकी मौत हो गई। इनकी मौत के बाद शनिवार को इनकी कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है।

67 वृद्ध वर्षीय महिला को गुरुवार को परिजनों ने मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। इसके बाद इनका शुक्र्रवार को सैंपल की जांच हुई तो दोबारा सैंपल मांगा गया। वृद्ध महिला की सांस लेने में दिक्कत होने पर आइसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया। महिला के शरीर में ऑक्सीजन का लेबल कम हो गया था। महिला का फिर शुक्रवार को सैंपल लेकर जांच किया गया। इस बीच शनिवार सुबह 6 बजे महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई। शनिवार को मौत के बाद महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली।

ंउमरिया जिले के 37 वर्षीय युवक की हालत खराब होने पर परिजनों ने शुक्रवार को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। युवक को बुखार था तथा सांस लेने में दिक्कत हो रही थी शरीर में ऑक्सीजन का लेबल भी कम हो गया था। इसके बाद उसे वेंटिलेटर पर रखा गया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। शनिवार को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। बाद में कोरोना गाइडलाइन के अनुसार अंतिम संस्कार कराया गया।

संभाग में 21 लोगों की कोरोना से मौत
इस तरह संभाग में कोरोना से अब तक में 21 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। इसमें शहडोल में सबसे ज्यादा लोगों की कोरोना से मौत हुई है। शहडोल में अब तक में कोरोना से 14 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके बाद अनूपपुर में कोरोना से 4 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद उमरिया में 3 लोगों की कोरोना से मौत हुई है।

लगातार कोरोना मरीजों की मौत का एनालिसिस करने बनेगी टीम, तैयार होगी रिपाोर्ट
मेडिकल कॉलेज में लगातार कोरोना मरीजों की बढ़ती मौत के बाद अफसर हर दिन बैठक ले रहे हैं। कमिश्नर ने शुक्रवार को बैठक लेकर मेडिकल कॉलेज प्रबंधन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को से कहा कि क्रिटिकल स्थिति बनने पर यहां के डॉक्टर भोपाल के डॉक्टरों से बातचीत कर निष्कर्ष निकालें। लगातार दम तोड़ रहे मरीजों पर कमिश्नर ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों के डेटा का भी एनालिसिस करें। अब तक हुई कोरोना मरीजों की मौत का एनालिसिस करने डॉक्टरों की समिति बनाई जाए। ये समिति रिपोर्ट बनाएं कि मरीजों की मौत किन स्थितियों में हुई। किसी तरह की लापरवाही हुई तो कौन दोषी है। बैठक में कलेक्टर शहडोल डॉ सतेन्द्र सिंह, डीन मेडिकल कॉलेज डॉ मिलिन्द शिरालकर, उपायुक्त राजस्व दिलीप पाण्डेय, सीएमएचओ डॉ राजेश पाण्डेय, डॉ. अंशुमन सोनारे सहित डॉक्टर मौजूद रहे।


400 सिलेंडर अतिरिक्त रखें, ताकि कमी न हो
कमिश्नर ने मेडिकल कॉलेज शहडोल में ऑक्सीजन सिलेण्डरों की व्यवस्था के लिए सभी विकल्प तैयार रखने के निर्देश अधिकारियों को दिए है। कमिश्नर ने कहा कि मेडिकल कॉलेज शहडोल में किसी भी स्थिति में ऑक्सीजन सिलेण्डरों की कमी नहीं होनी चाहिए। ऑक्सीजन सिलेण्डरों की आपूर्ति के लिए जबलपुर, मैहर, सतना एवं अन्य स्थानों के ऑक्सीजन सिलेण्डरों के लिए लगातार संवाद स्थापित कर ऑक्सीजन सिलेण्डरों की आपूर्ति कराएं। मेडिकल कॉलेज में 360 से 400 ऑक्सीजन के सिलेण्डर हर समय अतिरिक्त तौर पर रखे हुए होने चाहिए, ताकि जरूरत पडऩे पर उपयोग हो सके। अतिरिक्त सिलेण्डर खरीदी भी कर सकते हैं। बैठक में कमिश्नर ने कहा कि ऑक्सीजन सिलेण्डरों के परिवहन में लगे वाहन चिन्हित होना चाहिए। वाहनो में जीपीएस भी लगा होना चाहिए। कमिश्नर ने कहा कि मेडिकल कॉलेज के स्टॉफ को बकायदा ट्रेनिंग दी जाए।

महिला मिली कोरोना संक्रमित, 21 व्यक्ति स्वस्थ्य होकर घर के लिए हुए रवाना
अब तक कोरोना मरीजों की संख्या 515, ऐक्टिव कोरोना प्रकरण 42
अनूपपुर। जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में गिरावट आई है। जांच रिपोर्ट में 11 सितम्बर को एक महिला कोरोना संक्रमित पाई गई। जिसे कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया है। उल्लेखनीय है कि अब तक जिले से 12382 सैम्पल कोरोना जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। जिनमें से अब तक प्राप्त रिपोर्ट में 510 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। 5 व्यक्ति अन्य जिलों की टेस्टिंग में पॉजिटिव पाए गए थे। वर्तमान में ऐक्टिव कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 42 है। गुरुवार को 21 व्यक्तियों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया है। अब तक 468 कोरोना पॉजिटिव मरीज स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किए जा चुके हैं तथा 2 संक्रमित की मृत्यु हो चुकी है। अन्य जिलो में टेस्टिंग पर कोरोना पॉजिटिव पाए गए जिले के 3 निवासियों की मृत्यु हो चुकी है।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned