गली-गली उड़ा गुलाल, गणपति बप्पा... अगले बरस तू जल्दी आ के गूंजे जायकारे

बाजे गाजे के साथ विदा हुए गणपति
हवन पूजन के बाद हुआ विसर्जन, जगह-जगह भण्डारे का आयोजन

By: shubham singh

Published: 19 Sep 2021, 09:37 PM IST


शहडोल. दस दिनो तक विघ्नहर्ता श्रीगणेश की पूर्जा अर्चना करने के बाद रविवार को श्रद्धालुओं ने हवन-पूजन के बाद उनकी को जलस्त्रोत में विसर्जित किया गया। सुबह से ही नगर के साथ ही जिले भर में पण्डालों के साथ ही घरों में हवन पूजन के साथ ही भगवान गणपति के विसर्जन का क्रम शुरु हुआ। इस बीच गुलाल उड़ाते भक्तों की टोली जिस गली से भी गुजरी उसमें गणपति बप्पा... अगले बरस तू जल्दी आ जायकारे गूंज उठे। बाजे-गाजे के साथ ही श्रद्धालुओंं द्वारा नगर के अलग-अलग कुण्डो में भगवान की प्रतिमा विसर्जित की गई। इस दौरान श्रद्धालुओं में विशेष उत्साह देखने मिला। नगर के पुरानी बस्ती, पाण्डवनगर, जैन मंदिर, पंचायती मंदिर, किरण टॉकीज, घरौला मोहल्ला, दरभंगा चौक सहित नगर के अलग-अलग वार्डो में सजाए गए पण्डालों में हवन पूजन के बाद भी भगवान गणपति की प्रतिमा विसर्जित की गई।
पूरा दिन चला विसर्जन का सिलसिला
नगर के अलग-अलग वार्डो के साथ ही घरों में स्थापित भगवान गणपति की प्रतिमा के विसर्जन का क्रम सुबह से प्रारंभ हो गया और यह देर शाम तक चलता रहा। इस दौरान कोई दो पहिया वाहन से तो कई बड़े वाहनों में भगवान गणपति की प्रतिमा लेकर आकाशवाणी के समीप, कल्याणपुर रोड, मोहनराम तालाब सहित अन्य जगह बनाए गए विसर्जन कुण्ड पहुंचे। जहां भगवान गणपति की पूजा अर्चना कर विधि विधान के साथ प्रतिमा विसर्जित की गई।
पूरा दिन घूमता रहा नपा का वाहन
उल्लेखनीय है कि नगर वासियों ने पण्डालो के साथ ही अपने-अपने घरों भी भी भगवान गणपति की छोटी-छोटी प्रतिमाएं स्थापित की थी। जिन्हे विसर्जित करने के लिए नगर पालिका द्वारा विशेष व्यवस्था बनाई गई थी। नगर की प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए नगर पालिका द्वारा 5 वाहनों की व्यवस्था की गई थी। यह वाहन पूरा दिन नगर के अलग-अलग वार्डो में भ्रमण करते रहे। इस दौरान श्रद्धालुओं द्वारा प्रतिमाएं विसर्जन वाहन में रखाई गई। जिन्हे नपा अमले द्वारा विधि विधान के साथ बनाए गए विसर्जन कुण्डो में विसर्जित किया गया।
जगह-जगह बंटा प्रसाद
गणपति विसर्जन के साथ ही नगर में जगह-जगह भण्डारे का आयोजन किया गया। इस अवसर पर नगर के गांधी चौक, जयस्तंभ चौक, पुरानी बस्ती, घरौला मोहल्ला, पाण्डवनगर सहित अलग-अलग चौराहों व कॉलोनियों में प्रसाद वितरण किया गया। गणपति विसर्जन के साथ ही खिचड़ा, साबूदाना, हलुआ, पूडी़-सब्जी का प्रसाद वितरित किया गया।
नदी में उतरकर मूर्ति विसर्जन की न दें अनुमति
अनंत चतुर्थी पर गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन जिला प्रशासन द्वारा चिन्हित विभिन्न स्थानों में किया गया। इसी तारतम्य में अपर कलेक्टर अर्पित वर्मा ने जिले के सोन नदी घाट में बनाए गए विसर्जन स्थल का अवलोकन किया। निरीक्षण के दौरान अपर कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान पूरी सावधानियां बरती जाएं तथा नदी अपने सामान्य स्थिति से ऊपर है जिस कारण से किसी भी श्रद्धालु को नदी में उतरने एवं नावों से मूर्ति विसर्जन करने की अनुमति नहीं दी जाए। गणेश प्रतिमाओं को जिला प्रशासन द्वारा बनाए गए कृत्तिम विसर्जन स्थल में ही विसर्जित कराया जाए तथा गणेश प्रतिमा विसर्जित करने के पूर्व पानी में अघुलनशील प्लास्टिक एवं अन्य तत्वों को हटा दिया जाए। निरीक्षण के दौरान अपर कलेक्टर ने अधिकारियों का निर्देशित किया कि गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का भी पालन कराया जाए। जिससे कोरोना संक्रमण का प्रसार न हो पाए। अपर कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि सूर्यास्त के बाद किन्ही भी श्रद्धालुओं को विसर्जन की अनुमति नहीं दी जाए। निरीक्षण के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुकेश कुमार वैश्य, संयुक्त कलेक्टर दिलीप कुमार पांडेय, एसडीएम सोहागपुर नरेंद्र सिंह, डीएसपी सोनाली गुप्ता, तहसीलदार लवकुश प्रसाद शुक्ला सहित पुलिस विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

shubham singh Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned