नगर की राशन दुकानों में लटका ताला, खाद्यान्न उठाव न होने से हितग्राही परेशान

दुकानों में समाप्त हो गया खाद्यान्न, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के खाद्यान्न का भी नहीं हुआ उठाव

By: amaresh singh

Published: 23 May 2021, 11:31 AM IST

शहडोल. सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उचित मूल्य दुकानों से कोविड-19 के संक्रमण के कारण गरीब परिवारों की आजीविका के साधन प्रभावित हुए हैं। जिसके चलते गरीब परिवार आर्थिक रूप से कमजोर हो गए हैं। ऐसे परिवारों को तीन माह का एकमुश्त नि:शुल्क खाद्यान्न एवं प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अंतर्गत मई व जून का एकमुश्त नि:शुल्क खाद्यान्न वितरण किया जाना है। जिसके लिए अधिकारी लगातार बैठक लेकर विभागीय अमले को निर्देश भी जारी कर रहे हैं। बावजूद इसके स्थिति यह है कि पिछले दो दिनो से नगर की राशन दुकानां में ताला लटका हुआ है। एक माह का राशन तो पहले ही वितरण किया जा चुका है। दो माह का राशन वितरण किया जा रहा था इस बीच राशन दुकानों का पूरा स्टाक खत्म हो गया है। राशन दुकानों में वितरण के लिए अनाज ही नहीं बचा है। इधर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत भी मई और जून माह का राशन दिया जाना है। जिसमें से एक भी दाना अभी तक गरीबों तक नहीं पहुंच पाया है।


अभी तक नहीं हुआ अनाज का उठाव
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों को मई और जून माह का एकमुश्त राशन वितरण किया जाना है। मई का महीना बीतने को है और अभी तक उक्त योजना के तहत गरीबों को वितरित किया जाने वाला अनाज राशन दुकानों तक नहीं पहुंच पाया है। ऐसे में जरूरतमंदो को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। जिसके चलते लोग परेशान हो रहे हैं।


खाद्यान्न खत्म, लटक रहे ताले
तीन माह का एक मुश्त राशन वितरण व्यवस्था की भी स्थिति बहुत ठीक नहीं है। बुधवार व गुरुवार को पत्रिका टीम ने घरौला मोहल्ला, नया बसस्टैण्ड रोड, कट्टी मोहल्ला, राजेन्द्र टॉकीज के पास, वार्ड क्रमांक 17 सहित अन्य राशन वितरण के लिए संचालित दुकानों का निरीक्षण किया। इस दौरान ज्यादातर दुकानों में ताला लटकता मिला। बताया गया कि जो भी खाद्यान्न वितरण के लिए आया था वह हितग्राहियों को बांट दिया गया है। राशन दुकानों में खाद्यान्न ही नहीं है। खाद्यान्न आने के बाद ही बचे हुए हितग्राहियों को राशन वितरण किया जाएगा।
इनका कहना है
लगभग 80 प्रतिशत हितग्राहियों को तीन माह का राशन वितरण किया जा चुका है। अनाज का उठाव हो रहा है राशन दुकानों तक पहुंचने के साथ ही बचे हुए हितग्राहियों को भी वितरित किया जाएगा।
कमलेश टांडेकर, जिला खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी शहडोल

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned