...यहां है काफी संभावनाएं, प्राथमिकता से ऋण मुहैया कराने कहा

Shahdol online

Publish: Nov, 14 2017 06:10:49 (IST)

Shahdol, Madhya Pradesh, India
...यहां है काफी संभावनाएं, प्राथमिकता से ऋण मुहैया कराने कहा

पढिए पूरी खबर

पशुपालन से कई संभावनाएं

शहडोल- कलेक्टर नरेश पाल ने कहा है कि जिले में पशु पालन की विपुल संभावनाएं हैं। कलेक्टर ने बैंकर्सों से कहा है कि वे उन्नत पशु पालन के लिए पशु पालकों को प्राथमिकता के साथ ऋ ण मुहैया कराएं। उन्होने कहा कि आचार्य विद्यासागर योजना पशु पालकों के लिए एक अच्छी योजना साबित हो सकती है।
कलेक्टर ने कहा कि जिले में स्वरोजगार योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए सभी बैंकर्स आगे आकर वित्त पोषित करें। कलेक्टर ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, आर्थिक कल्याण योजना में वित्त पोषण की बैंकवार समीक्षा करते हुए बैंकर्सों से कहा कि बैंकर्स शासन द्वारा निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप स्वरोजगार योजनाओं में वित्त पोषित करें। उन्होने कहा कि लक्ष्य के अनुरूप वित्त पोषित नहीं होने पर बैंकर्स की जबाबदेही तय की जाएगी और बैंकर्स की नामजद शिकायत दर्ज की जाएगी।
कलेक्टर ने जिले में वन आधारित लघु उद्योग स्थापित करने के लिए भी युवाओ को प्रेरित एवं प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने बैंकर्सों से कहा कि हितग्राहियों को सहजता से ऋ ण मुहैया कराएं, और ऋ ण मुहैया कराने में किसी प्रकार की लापरवाही, विलंब और करप्शन नहीं होना चाहिए। इस दौरान विभिन्न बैंकों के बैंकर्स एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
-------------------------

जिपं अध्यक्ष ने किया निरीक्षण
शहडोल - जनपद पंचायत गोहपारू के माध्यमिक स्कूल अंकुरी का सोमवार को जिला पंचायत अध्यक्ष नरेन्द्र मरावी ने निरीक्षण किया। इस दौरान स्कूल में ६ शिक्षकों की जगह २ शिक्षिकाएं आराधना सिंह यादव और पूनम खरे अनुपस्थित रहीं। गोहपारू जनपद अध्यक्ष नीलम सिंह ने बताया कि पहले भी निरीक्षण के दौरान स्कूल से शिक्षक गायब मिले हैं। जिला पंचायत सदस्य तेज प्रताप सिंह ने बताया कि अक्सर शिक्षक स्कूल में देरी से आते हैं। शिक्षकों की लेटलतीफी को लेकर प्राचार्य रामबाबू कचनेरिया ने बताया कि शिक्षक मनमानी करते हैं जिससे स्कूल में पठन पाठन व्यवस्था में परेशानी होती है। इस दौरान जिपं अध्यक्ष ने पंचनामा तैयार करते हुए लोगों के बयान दर्ज कराने के बाद शिक्षकों को फटकार लगाई।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned