scriptHere PCB caught a big mistake, due to flow of flyash dam, there was a | यहां पीसीबी ने पकड़ी बड़ी गड़बड़ी, फ्लाइएश डैम बहने से हुआ था किसानों को बड़ा नुकसान | Patrika News

यहां पीसीबी ने पकड़ी बड़ी गड़बड़ी, फ्लाइएश डैम बहने से हुआ था किसानों को बड़ा नुकसान

4 एकड़ खेती योग्य जमीन में फ्लाई ऐश की परत जमी

शाहडोल

Published: May 12, 2022 11:16:27 am

शहडोल. अनूपपुर चचाई में अमरकंटक ताप विद्युत गृह का राखड़ बांध बहने के मामले में प्रबंधन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए अब पीसीबी (प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड) कोर्ट पहुंचा है। दरअसल मप्र पॉवर जनरेटिंग कम्पनी लिमिटेड 210 मेगावाट विद्युत उत्पादन क्षमता का अमरकंटक ताप विद्युत गृह संचालित किया जा रहा है। 11 फरवरी 2022 की रात लगभग 3 बजे राखड़ का बांध बह गया था। बताया गया कि लगभग 3 मीटर चौड़ा एवं लगभग 4.50 मीटर गहरा हिस्सा स्पिलवे सैटलमेण्ट होने के कारण टूट गया था। जिसके कारण हजारों वर्ग मीटर फ्लाई ऐश टंकी नाले में बह गया था। जांच में सामने आया है कि राखड़ बांध से टांकी नाले की जल गुणवत्ता एवं तल की भौतिक संरचना प्रभावित हुई थी। इसके अलावा टांकी नाले में और आसपास फ्लाई ऐश का लगभग 1 इंच से लेकर लगभग 1.50 फ ीट का जमाव हो गया था। टांकी नाले में प्रवाहित होने से जल का रंग भी मटमैला हो गया था। राखड़ आसपास की नदियों में भी जाकर मिल गया था। पीसीबी की रिपोर्ट में जल (प्रदूषण निवारण तथा नियंत्रण) अधिनियम 1974 की धारा 25 व 26 का उल्लंघन करना मिला है। मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, भोपाल ने पीसीबी शहडोल को उद्योग के जिम्मेदार के विरूद्ध न्यायालयीन वाद दायर करने के निर्देश दिये थे। जिसके बाद क्षेत्रीय कार्यालय, म.प्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, शहडोल ने मुख्य न्यायायिक दण्डाधिकारी, अनूपपुर के न्यायालय में लगाया है।
किसानों की चार एकड़ भूमि में जम गई थी फ्लाइएश
पीसीबी की जांच रिपोर्ट के अनुसार, 4 एकड़ खेती योग्य जमीन में फ्लाई ऐश की परत जमी हुई पाई गई थी। इस घटना के बाद किसानों में जमकर विरोध भी था और पर्यावरण को भी नुकसान पहुंचा था। पर्यावरण के प्रदूषित होने की स्थिति उत्पन्न हुई थी।
कोर्ट में इन्हें बनाया पार्टी
अमरकंटक ताप विद्युत गृह द्वारा केन्द्रीय अधिनियम फ्लाई ऐश प्रबंधन नियम 2016 एवं फ्लाई ऐश नवीनीकरण प्रबंधन नियम 2021 का भी उल्लंघन किया है। जिस पर जल प्रदूषण करने के मामले में जिम्मेदार पदाधिकारी व परिवादी एचए रिजवी, मुख्य अभियंता (उत्पादन), आरके पाहुरकर, मुख्य रसायनज्ञ (प्रभारी पर्यावरण शाखा),एमके नामदेव, कार्यपालन अभियंता (सिविल), शकुन्तला धुर्वे, रसायनज्ञ (पर्यावरण शाखा) व अख्तर हुसैन अन्सारी, सहायक अभियंता (सिविल) को बनाया है।

डीवीएसी की कार्रवाई में TNPCB चेयरमैन के घर से 4.5 किलो सोना बरामद
डीवीएसी की कार्रवाई में TNPCB चेयरमैन के घर से 4.5 किलो सोना बरामद

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Bharat Drone Mahotsav 2022: दिल्ली में ड्रोन फेस्टिवल का उद्घाटन कर बोले मोदी- 2030 तक ड्रोन हब बनेगा भारतपहली बार हिंदी लेखिका को मिला International Booker Prize, एक मां की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातचांदी के गहने-सिक्के की भी हो सकती है हॉलमार्किंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.