scriptIce consumption increased, factory operators are making ice arbitraril | बर्फ की खपत बढ़ी फैक्ट्री संचालक मनमानी तौर पर कर रहे बर्फ का निर्माण, अधिकारियों ने नहीं लिए एक भी सैंपल | Patrika News

बर्फ की खपत बढ़ी फैक्ट्री संचालक मनमानी तौर पर कर रहे बर्फ का निर्माण, अधिकारियों ने नहीं लिए एक भी सैंपल

लस्सी, गन्ना रस व शरबत में कर रहे बर्फ का उपयोग

शाहडोल

Published: May 02, 2022 12:18:04 pm

शहडोल. गर्मी के साथ ही गला तर करने के लिए शीतल और खाद्य पदार्थ की मांग शहर में बढ़ गई है। कमाई के फेर में शीतल पेय पदार्थों को बर्फ घोलकर बेचा जा रहा है। आइस फैक्ट्री में बन रही बर्फ को सीधे ठेलों,होटलों और कैटरिंग तक आपूर्ति की जा रही है। खाद्य विभाग की ढीली कार्यवाही से तरावट के लिए बर्फ का धड़ल्ले से उपयोग हो रहा है। शीतल पेय पदार्थों में तरावट बढ़ाने के लिए मिलाई जा रही बर्फ लोगों की सेहत बिगाड़ सकती है। पानी, लस्सी, गन्ना रस, शरबत, शेक और जूस को ठंडा करने के लिए बर्फ का उपयोग हो रहा है। आम लोगों को शुद्ध बर्फ की पहचान नहीं होने का फ ायदा उठाकर ठेलों से लेकर होटल तक में बर्फ की खपत हो रही है। जल से निर्मित बर्फ कैटरिंग में फ लों के सलाद बर्फ के गोले कुल्फ ी में उपयोग हो रहा है। इसके सेवन से गले में कई प्रकार के इन्फेक्शन व डायरिया, टाइफाइड जैसी बीमारी की आशंका लोगों में बनी रहती है।
पानी की गुणवत्ता संदिग्ध
आइस फैक्ट्रियों में बर्फ जमाने के लिए उपयोग किए जा रहे जल की गुणवत्ता को विभाग ने इस सीजन में जांच की नहीं की है। जिससे फैक्ट्रीयों में गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा जा रहा। बर्फ की फैक्ट्रियो में मानक पानी से ही खाद्य बर्फ बनाने के प्रावधान की अनदेखी कर बर्फ फैक्ट्री संचालक मनमाने तरीके से पानी का कर बर्फ बनाने का कार्य किया जाता है। इसकी न तो कभी संबंधित विभाग जांच करहता है और न ही इन फैक्ट्री संचालकों की मनमानी पर रोक लगाई जाती है।
लोगों को नहीं बर्फ की पहचान
आमतौर पर बर्फ दो प्रकार के बनाए जाते है पहला खाद्य बर्फ व दूसरा अखाद्य बर्फ। खाद्य बर्फ को खाने-पीने के सामानों में मिलाया जाता है जिसका कलर पानी की तरह होता है। वहीं अखाद्य बर्फ का कलर नीले रंग का होता है पर खाने पीने के सामनों पन नहीं मिलाया जा सकता। शहर में बर्फ संचालक एक ही प्रकार के बर्फ का उत्पादन करते है जिससे लोगों को यह पता नहीं चल पाता कि यह खाद्य बर्फ है या अखाद्य बर्फ है। विभाग द्वारा भी इस संबध में अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई।
शहर में इस तरह है बर्फ की कीमत
बड़ी सिल्ली 250 से 300
मीडियम सिल्ली 100 से 150
छोटी सिल्ली 40 से 75
इनका कहना है
विभाग द्वारा नियमित कार्यवाही की जाती है पर इस सीजन में अभी तक बर्फ की फैक्ट्रियों पर कार्यवाही नहीं की गई है।
आरके सोनी, खाद्य एवं औषधि अधिकारी।

बर्फ की खपत बढ़ी फैक्ट्री संचालक मनमानी तौर पर कर रहे बर्फ का निर्माण, अधिकारियों ने नहीं लिए एक भी सैंपल
बर्फ की खपत बढ़ी फैक्ट्री संचालक मनमानी तौर पर कर रहे बर्फ का निर्माण, अधिकारियों ने नहीं लिए एक भी सैंपल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

मंकीपॉक्स पर WHO की आपात बैठक में अहम खुलासा: यूरोप में अब तक 100 से अधिक मामलों की पुष्टि, जानिए 10 अपडेटJNU कैंपस में एमसीए की छात्रा से रेप, आरोपी छात्र गिरफ्तारकैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीमाता वैष्णो देवी के प्रमुख पुजारी अमीर चंद का निधन, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल सहित कई नेताओं ने जताया दुखज्ञानवापी मस्जिद केसः प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी पर हंगामा, DU में छात्रों का प्रदर्शनफिर महंगी हुई CNG: राजस्थान में दाम सबसे अधिक, Diesel - CNG के दाम में अब मात्र 12 रुपए का अंतर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.