करियर को लेकर कन्फ्यूज हैं तो परेशान न हों, यहां एक्सपर्ट दे रहे हैं सलाह

पढि़ए पूरी खबर...

By: Akhilesh Shukla

Published: 24 May 2018, 01:55 PM IST

शहडोल- जैसे ही छात्र कक्षा 12वीं की परीक्षा पास कर लेते हैं उसके बाद उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती होती है, अब क्या करें, किस दिशा में जाएं, किस लाइन में आगे की पढ़ाई करें, करियर के लिए सही क्या होगा, ये तमाम उलझने होती हैं, जिसको लेकर छात्र परेशान रहते हैं, ऐसे में परेशान होने की जरूरत नहीं है।बल्कि सही लोगों से सलाह लेकर सही करियर की दिशा चुननी है। और इसके लिए आपको कहीं नहीं जाना है, आपके जिले में उत्कृष्ट स्कूल में इन दिनों एक्सर्ट करियर मार्गदर्शन कर रहे हैं वहां जाकर आप भी इसका फायदा उठा सकते हैं।

 

हायर सेकेण्ड्री उत्तीर्ण करने के बाद छात्रों के समक्ष सबसे बड़ी समस्या होती है ऐसे कोर्स का चयन जिससे आगे चलकर उनका भविष्य उज्वल हो सके। सही मार्गदर्शन व जानकारी के अभाव के चलते उनके द्वारा लिया गया एक गलत फैसला उनके पूरे भविष्य को अंधकार में धकेल देता है।

 

छात्र ऐसी भूल न करें और बेहतर करियर के लिए सही रास्ते का चयन करें इसे ध्यान में रखते हुए शासन ने काउंसलिंग की व्यवस्था की है। जिसके लिए जिले में रिसोर्स पर्सन नियुक्त किए गए हैं। इन रिसोर्स पर्सन द्वारा हायर सेकेण्ड्री में 70 प्रतिशत से अधिक अंक पाने वाले छात्रों की काउंसलिंग का दायित्व सौंपा गया है।

 

उक्त काउंसलिंग जिला स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय में आयोजित की जा रही है। जिसमें शामिल होकर छात्र बेहतर मार्गदर्शन प्राप्त कर सकते हैं। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा छात्रों की काउंसलिंग के लिए रिसोर्स पर्सन नियुक्त किए गए हैं। जिन्हे इस कार्य के लिए पूर्व में ही प्रशिक्षित किया गया है। नियुक्त किए गए इन रिसोर्स पर्सन को काउंसलिंग की जिम्मेदारी सौंपी गई है। नियुक्त किए गए यह रिसोर्स पर्सन अलग-अलग दिन छात्रों की काउसलिंग कर रहे हैं। जिससे कि छात्रों को अलग-अलग क्षेत्र का बेहतर मार्गदर्शन प्राप्त हो सके और वह सही राह चुन सके।

 

इन्हें सौंपी गई है जिम्मेदारी

जिले में छात्रों की काउंसलिंग के लिए स्कूल शिक्षा, तकनीकी शिक्षा व उच्च शिक्षा के आधार पर रिसोर्स पर्सन बनाए गए हैं। जिसमें नीलेश शुक्ला, जी कृष्णावेनी, डा. अनिल उपाध्याय, शशिकांत मिश्रा, स्मिता उपाध्याय, डा. संगीता मासी, सुभाष कुमारी तिवारी, डा. करुणेश झा व आलोक उपाध्याय को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिनके द्वारा आगामी 30 मई तक छात्रों की काउंसलिंग की जाएगी।

 

छात्रों को मिलेगा लाभ

शासन स्तर पर की गई इस पहल का निश्चय ही छात्रों को बेहतर लाभ मिलेगा। कामर्स के छात्रों को किस क्षेत्र में जाना चाहिए, साइंस के छात्रों को क्या चयन करना चाहिए, आर्ट, एग्रीकल्चर के छात्रों को किस दिशा में कदम बढ़ाना चाहिए यह छात्रों को उक्त काउंसलिंग के माध्यम से जानने को मिलेगा। इससे छात्रों को बेहतर कैरियर के लिए सही राह चुनने में मदद मिलेगी।

Akhilesh Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned