कोविड संकट काल में छिनी नौकरी, रोजगार मेला पहुंचे बेरोजगार युवा

रोजगार मेले में 404 युवक-युवतियों को मिला रोजगार

By: Ramashankar mishra

Updated: 19 Sep 2021, 12:32 PM IST

शहडोल. कोविड संकट काल ने कई लोगों के हाथ से रोजगार छीन लिया है। पहले रोजगार मेले में गिनती के युवा पहुंचते थे लेकिन अब रोजगार छिनने के बाद मेले में भी लोग आवेदन कर रहे हैं। रोजगार मेले में ऐसे भी युवक-युवती पहुंच रहे हैं जिनकी पहले से नौकरी थी लेकिन वर्तमान में बेरोजगार होकर घर पर बैठे हुए हैं। वहीं कई लोग डिप्लोमा आदि की डिग्री लेकर जब रोजगार नहीं मिला तो घर पर बैठ गए। ऐसे युवक-युवती भी शनिवार को पॉलीटेक्निक स्कूल में रोजगार मेले में पहुंचे और रोजगार के लिए इंटरव्यू दिया। इस दौरान कई युवाओं को अलग-अलग कंपनियों में नौकरी भी दी गई।
14 माह तक किया अप्रेंटिस
मोदी नगर निवासी उत्तम कुमार वर्मन ने साल 2013 में स्नातक पूरा किया। इसके बाद आईटीआई किया। इसके बाद उनको एससीईएल में अप्रेंटिस पर रखा गया। उन्होंने कंपनी में 14 माह अप्रेंटिस किया। इसके बाद उनको काम पर रखने की जगह हटा दिया गया। वे पिछले तीन साल से घर पर बेरोजगार बैठे थे। रोजगार मेला लगने पर यहां आवेदन करने के लिए पहुंचे।
नहीं मिल रही थी नौकरी
इसी प्रकार पटेल नगर निवासी जितेन्द्र कुमार पटेल ने साल 2019 में पॉलीटेक्निक किया। उनका ब्रांच मैकेनिकल था। पॉलीटेक्निक करने के बाद उन्होंने रोजगार के लिए काफी प्रयास किया लेकिन रोजगार नहीं मिला। इस पर वे घर बैठकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने लगे। वे भी रोजगार मेले में रोजगार के लिए आवेदन करने आए थे।
465 युवक-युवतियों ने कराया था पंजीयन
पॉलीटेक्निक स्कूल में शनिवार को 16 कंपनियों ने जिले के बेरोजगार युवक-युवतियों को रोजगार दिया। इसमें रोजगार के लिए 465 युवक-युवतियों ने पंजीयन कराया। इसके बाद कंपनियों ने इंटरव्यू के आधार पर 404 युवक-युवतियों का फाइनल सलेक्शन किया।

Show More
Ramashankar mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned