केवी के छात्र-छात्राओं ने ली स्वच्छता की सपथ, पखवाड़े में आयोजित हो रही प्रतियोगिताएं

केवी के छात्र-छात्राओं ने ली स्वच्छता की सपथ, पखवाड़े में आयोजित हो रही प्रतियोगिताएं

Shiv Mangal Singh | Publish: Sep, 04 2018 08:42:28 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

विद्यालय के बच्चें लेगें भाग

 

 

केवी के छात्र-छात्राओं ने ली स्वच्छता की सपथ, पखवाड़े में आयोजित हो रही प्रतियोगिताएं

धनपुरी. एसईसीएल सोहागपुर एरिया के अन्तर्गत् केन्द्रीय विद्यालय धनपुरी में एक सितम्बर को केन्द्र सरकार के आव्हान पर देश व्यापी स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने की मुहिम छेड़ी है। जहां पर 1 से 15 सितम्बर तक स्वच्छता पखवाड़ा मनाया जायेगा। कार्यक्रम की शुरुआत में केन्द्रीय विद्यालय के प्राचार्य एनोस सैमसन ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र पर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की। इस अवसर पर प्राचार्य एनोस सैमसन ने विद्यालय के बच्चों को स्वच्छता की शपथ दिलाई । उन्होंने कहा कि आज पूरे देश में स्वच्छता अभियान एक ऐसा अभियान बन गया है जिसमें करोड़ों लोग जुड़े हैं और लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरुक कर रहे हैं। कार्यक्रम प्रभारी अखिल प्रताप सिंह ने पूरे पखवाड़े में आयोजित होने वाली प्रतियोगिताओं एवं गतिविधियों की रुप रेखा दी। 15 दिनों तक चलने वाले इस पखवाड़े में विभिन्न प्रतियोगिता स्वच्छता अभियान को लेकर होगी। जिसमें विद्यालय के बच्चे भाग लेंगे। कार्यक्रम के अन्त में पूरे विद्यालय ने इस अभियान को सफल बनाने की शपथ ली।
नेकी की दीवार के माध्यम से जरुरतमंदों को बांटे गये कपड़े
. साप्ताहिक जनसुनवाई कार्यक्रम के तहत जिले भर से आने वाले जरुरतमंद लोगों को मंगलवार को अपर कलेक्टर अशोक ओहरी की उपस्थिति में कपड़े वितरित किये गये। इस अवसर पर शंकर जगवानी तथा सरवटे उपस्थित रहे।
ईव्हीएम मशीन के उपयोग की दी जा रही है जानकारी
. आगामी विधानसभा निर्वाचन 2018 में मतदान हेतु उपयोग की जाने वाली ईव्हीएम मशीन तथा वीवीपैट के उपयोग से आम मतदाताओं को अवगत कराने हेतु कलेक्ट्रेट परिसर में मतदाता हेल्पडेस्क स्थापित की गई है। जनसुनवाई में आने वाले लोगों को इस हेल्पडेस्क के माध्यम से मशीन के उपयोग की जानकारी दी जा रही हैं, साथ ही यह हेल्पडेस्क सप्ताह के सातों दिन काम कर रहा है। जहां कोई भी मतदाता वीवीपैट एवं ईव्हीएम मशीन के उपयेाग की जानकारी प्राप्त कर सकता है।
स्वास्थ्य सेवाओं से कोसो दूर हैं रसमोहनी वासी
. ग्रामीण अंचलों में स्वास्थ्य सुविधाएं नगण्य है। जिसके कारण पीडि़त लगातार परेशान हो रहे है। उप स्वास्थ्य केंद्र रस मोहनी में किसी प्रकार की स्वास्थ्य सुविधा नहीं है। जिसके कारण क्षेत्रीय लोग नींम हकीम की शरण में जा कर जिंदगी गवंा रहे है। कंपाउंडर के भरोसे चल रहे स्वास्थ्य केंद्र रसमोहनी में सर्दी खांसी तक का इलाज नहीं है। जबकि रसमोहनी के आसपास लगभग 20 गांव होने के बावजूद यहां डॉक्टर की पदस्थापना नहीं की गई । स्वास्थ्य केन्द्र के लिए बिल्डिंग 2014- 15 से बन रही है । जो अभी तक हैंडओवर नहीं होने के कारण उप स्वास्थ्य केंद्र खण्डहर में संचालित हो रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned