त्योहार में बाजार की दूर हुई सुस्ती, 70 करोड़ का रहा दीपोत्सव, जमकर हुआ कारोबार

सराफा व ऑटोमोबाइल सेक्टर से लेकर कपड़ा और इलेक्ट्रानिक बाजार में बूम

By: amaresh singh

Published: 20 Nov 2020, 12:54 PM IST

शहडोल. कोरोना संक्रमण के बीच दीपोत्सव में बाजार भी गुलजार हो गया। धनतेरस से लेकर दीपावली तक में जिले में कारोबार चरम पर रहा। लोगों ने तीन दिन खूब खरीदी की। इससे कोरोना के कारण बाजार में आई सुस्ती दूर हो गई। नवरात्र से शुरू हुआ कारोबार दीपावली पर बेहतर रहा। हर क्षेत्र में व्यापार हुआ। इस दौरान पारंपरिक चीजों की खूब बिक्री हुई। लाई, बताशा, गणेश लक्ष्मी की मूर्तियां, पिंड खजूर, दीया सिंघाड़ा, रंग बिरंगी लाइट आदि की जमकर बिक्री हुई। त्योहार में ऑटोमोबाइल से लेकर सराफा, इलेक्ट्रानिक, कपड़ा, पटाखा, बर्तन, रियल स्टेट, पारंपरिक बाजार, सजावटी समान, मिठाईयों का जमकर कारोबार हुआ। कोरोना के बीच त्योहार में घरों से बाहर निकल आए और दुकानों पर जाकर जमकर खरीदारी की। व्यापारियों की मानें तो कोरोना काल में त्योहारी सीजन के चलते थोड़ा सुस्ती दूर हुई है।
ऑटोमोबाइल
त्योहार में ऑटोमोबाइल में जमकर कारोबार हुआ है। दोपहिया और चार पहिया वाहनों की लोगों ने एडवांश बुकिंग की थी। गुप्ता ऑटोमोबाइल्स के संचालक राजेश गुप्ता ने बताया कि जिले में दोपहिया वाहनों का बाजार इस बार लगभग 8 करोड़ का रहा। गुप्ता हुडंई के संचालक शांतनु गुप्ता ने बताया कि चार पहिया वाहनों का त्योहार में इस बार लगभग 25 करोड़ का कारोबार हुआ।
कपड़ा
जिले में इस बार कपड़े का बाजार 10 करोड़ रुपए का रहा। लक्ष्मी भंडार के संचालक नरेश जैन ने बताया कि इस बार शादियां सीमित तारीखों में हैं। इसलिए कपड़े कारोबार में रौनक थी। हालांकि कोरोना के चलते पिछले साल से कपड़े का कारोबार कम रहा है लेकिन जिले भर में लगभग10 करोड़ रुपए के कपड़े की बिक्री हुई है।
इलेक्ट्रानिक्स
त्योहार में इलेक्ट्रानिक्स का कारोबार भी जमकर हुआ। कोरोना के बावजूद जिले में लगभग 15 करोड़ रुपए का इलेक्ट्रानिक्स सामानों का कारोबार हुआ। अंजता इलेक्ट्रानिक्स के संचालक विक्रम जगवानी ने बताया कि कोरोना के बावजूद इस बार इलेक्ट्रानिक्स का बाजार पिछले साल के बराबर रहा। लोगों ने मोबाइल, एलईडी टीवी, मिक्सर ग्राउंडर आदि सामानों की जमकर बिक्री हुई।
बर्तन
कोरोना के चलते त्योहार में बर्तन का कारोबार भी अच्छा हुआ लेकिन पिछले साल की अपेक्षा कारोबार कम रहा। नेशनल स्टील एम्पोरियम के संचालक विपुल सराफ ने बताया कि त्योहार में इस बार जिले में बर्तन का कारोबार लगभग 1 करोड़ रुपए का रहा। लोगों ने इस बार हल्के बर्तन ज्यादा खरीदे।
सजावटी सामान
त्योहार में लोगों ने सजावटी सामान भी जमकर खरीदा। कोरोना का असर सजावटी सामान पर देखने को इस बार नजर आया। राहुल फ्लावर के संचालक राहुल मारी ने बताया कि इस साल जिले में लगभग तीन लाख रुपए का सजावटी सामान का कारोबार हुआ है। यह पिछले साल से आधा है।
पारंपरिक बाजार
लोगों ने पूजा सामग्री की भी अच्छी खासी खरीदारी की है। यह पर्व पूजा का पर्व था लेकिन पूजा सामग्री बेचने वालों के लिए अच्छा रहा। पवन किराना स्टोर के संचालक पवन गुप्ता ने कहा कि त्योहार में पिछले साल की तरह पूजा सामग्री की बिक्री हुई है। इस बार जिले में लगभग एक करोड़ रुपए के पूजा सामग्री की बिक्री हुई है।
रियल स्टेट
कोरोना के चलते आय कम हो जाने से त्योहार में रियल स्टेट का कारोबार पिछले साल की अपेक्षा कम रहा लेकिन फिर भी लोगों ने मकानों की बुकिंग की है। स्वास्तिक ग्रीन वैली के संचालक ने बताया कि उनके यहां 15 मकानों की बुकिंग हुई है। एमआर सिटी के संचालक कमल प्रताप ने बताया कि जिले में रियल स्टेट में लगभग पांच करोड़ का कारोबार हुआ है।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned