फंदा लगाकर तेंदुआ का शिकार, आधी रात निकाल रहे थे खाल

शहडोल सर्किल में बढ़ी शिकार के मामले

By: amaresh singh

Published: 30 Dec 2020, 09:04 PM IST

शहडोल. वन परिक्षेत्र बुढ़ार के बीट अरझुली 811 में तेंदुआ के शिकार का मामला सामने आया है। शिकारियों ने पहले फंदा और क्लच वायर लगाकर तेंदुआ का शिकार किया है। वारदात सोमवार की रात की बताई जा रही है। शिकार के बाद शिकारियों ने तेंदुआ की खाल निकालने का भी प्रयास किया लेकिन ग्रामीणों और वनकर्मियों की आहट मिलते ही शिकार भाग निकले। अधिकारियों की मानें तो जिस जगह पर तेंदुआ का शव मिला है, वह अनूपपुर और शहडोल की सीमा पर है। विभागीय अधिकारियों के अनुसार, अनूपपुर रेंज में शिकारियों ने क्वच वायर की मदद से फंदा तैयार किया था। वन्यजीवों के शिकार के लिए शिकारियों ने फंदा बिछा रखा था। वन्यजीव का मूवमेंट मिलते ही शिकारियों ने फंदे में फंसाकर शिकार किया। किसी तरह तेंदुआ भागते हुए अरझुली की ओर पहुंचा तो शिकारियों ने यहां भी पीछा कर लिया। अरझुली 811 में पहुंचने के बाद शिकारी तेंदुआ की खाल निकाल रहे थे। इसी दौरान ग्रामीण और बीट गार्ड की आहट पाते ही शिकारी भाग निकले। सूचना मिलते ही एसडीओ और वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। रातभर अधिकारी शिकारियों की तलाश में दबिश देते रहे लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा। संदेहियों से वन विभाग के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं।


तीन संदेहियों से पूछताछ, कई सुराग भी मिले
वन विभाग के अधिकारी तीन संदेहियों को हिरासत में लिया है। इनसे पूछताछ में कई सुराग भी सामने आए हैं। इस दौरान वन विभाग की टीम ने जीआई तार और फंदा भी बरामद किया है। संदेहियों से मिले इनपुट के आधार पर टीम अलग- अलग जगहों पर दबिश भी दे रही है। मामले में पांच लोगों के नाम सामने आ रहे हैं।


सर्किल में बढ़े रहे शिकार के मामले
शहडोल सर्किल में लगातार वन्यजीवों के शिकार के मामले बढ़ रहे हैं। हाल ही में बाघ के अलावा तेंदुआ और पैंगुलिन के शिकार के मामले भी सामने आ चुके हैं।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned