लॉकडाउन में छूट : दुकानदारों में रहा संडे का संशय, दुकानों की साफ-सफाई में ही गुजरा वक्त

सडक़ोंं पर रही भीड़, प्रशासन के भय से कर रहे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

By: brijesh sirmour

Published: 10 May 2020, 08:28 PM IST

शहडोल. लॉकडाउन पार्ट थ्री मेंं जिले की एकल दुकानों को खोलने ेके लिए कलेक्टर द्वारा जारी आदेश के परिपालन में रविवार को संभागीय मुख्यालय में दुकानदारों में संडे का काफी संशय रहा। इसके अलावा कई दुकानदारों का यह भी स्पष्ट नहीं रहा कि उन्हे अपनी दुकानें खोलना है या नहीं। ऐसी स्थिति में उन्होने दुकानें तो खोली, मगर प्रशासनिक अमले की कार्रवाई का भय बना रहा और वह दुकानदारी करने की बजाय दुकान की साफ-सफाई पर ज्यादा ध्यान दिया। इसके अलावा हर रोज की तरह सुबह से ही शहर में चहल-पहल बढ़ गई थी, मगर अधिकांश भीड़ पूर्व में खुली आवश्यक सामानों की दुकानों में ही देखी गई और शाम चार बजने के पहले से ही दुकानों के शटर बंद होने लगे। गौरतलब है कि गत चार मई से लाकडाउन पार्ट थ्री के शुरू होने पर अधिकांश दुकानदारों ने आसपास के जिलों में दुकानों के संचालन शुरू होने की दुहाई देकर संभागीय मुख्यालय में भी दुकानें खोले जाने की मांग की थी। जिस पर काफी मंथन के बाद जिला प्रशासन ने शनिवार को सभी एकल दुकानों के संचालन की अनुमति प्रदान की है।
सोशल डिस्टेंसिंग में दिखी लापरवाही
शहर के मुख्य मार्गों पर संचालित दुकानों पर प्रशासन की सख्ती की वजह से दुकानदार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते नजर आए, मगर गली-मोहल्लों में संचालित दुकानों में काफी लापरवाही देखी जा रही है। जब पुलिस का सायरन बजता है या फिर प्रशानिक अमले की गाड़ी गुजरती है तब दिखावे के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बनाया जाता है, इसके बाद यथा स्थिति निर्मित हो जाती है।
सैनिटाइजर से कर रहे हैं परहेज
ज्यादातर दुकानों में सैनिटाइजर का प्रयोग हो ही नहीं रहा है। दुकानदार सामग्री और नोटों का आदान-प्रदान सैनिटाइजर के उपयोग के बगैर ही कर रहे हैं। जिससे उन पर कोरोना संक्रमण का खतरा मंडराता रहता है। सब्जी मंडी व गंज मार्ग पर संचालित अधिकांश दुकानों में सैनिटाइजर के उपयोग से परहेज किया जा रहा है। पूंछे जाने पर सैनिटाइजर पर बेवजह खर्च होने की बात कही जा रही है।
ग्राहकों का इंतजार करते रहे दुकानदार
रविवार को संभागीय मुख्यालय की कई दुकानें खुल गई, मगर कई दुकानदार ग्राहकों का इंतजार करते देखे गए। जिसमें हार्डवेयर, सैनिटरी वेयर, ऑटो मोबाइल, कपड़ा, रेडीमेड, बर्तन, जनरल स्टोर और फर्नीचर की दुकानें शामिल रही। जहां इक्का-दुक्का ग्राहक ही पहुंंच रहे थे। जबकि मोबाइल, किराना, इलेक्ट्रिकल एवं इलेक्ट्रॉनिक, सब्जी, फल, साइकल, चश्मा एवं घड़ी और मेडिकल की दुकानों में भीड़ देखी गई।
उल्लंघन करने पर होगी कार्रवाई
बताया गया है कि जिले में 17 मई तक प्रशासन ने धारा 144 लागू की है। वहीं 17 मई तक सायं 7 से सुबह 7 बजे तक आमजन का अनावश्यक रूप से घर से बाहर निकलना प्रतिबंधित है और कोई भी अनावश्यक गतिविधियां नहीं की जा सकेगी। प्रशासन ने स्पष्ट किया है कि अगर कोई व्यक्ति इन निर्देशों की उल्लंंघन करता है तो उसके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 और भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जा सकती है। इन सभी छूट के साथ एक शर्त है कि प्रतिष्ठानों पर शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करना होगा।
ओरेंज जोन में ये दी गई है छूट
-पहले से जो सुविधाएं जारी हैं, वह लगातार जारी रहेंगी।
-स्वीकृत गतिविधियों के लिए लोगों और वाहनों की आवाजाही जिले के भीतर जारी रहेगी।
-टैक्सी जैसी सुविधाएं शुरू है, मगर इसमें ड्राइवर व दो सवारी बैठाने की अनुमति है।
-लॉकडाउन के नियमों के पालन के साथ शराब की दुकानें खुली रहेंगी।
-चार पहिया वाहनों में ड्राइवर के साथ दो सवारी बैठने की अनुमति
-बाइक पर दो लोग बैठ सकेंगे।
-ओपीडी और मेडिकल क्लीनिक शुरू रहेंगे।
-65 वर्ष आयु के बुजुर्ग व 10 वर्ष आयु तक बच्चे व गर्भवती महिलाओं को घरों में रहने की सलाह दी गई है।

ये सभी दुकानें खुली रहेंगी
-किराना
-बिजली का सामान
-सीमेंट, टाइल्स सरिया आदि दुकानें
-मेडिकल शॉप
-मोबाइल, लैपटॉप व कंप्यूटर
-टीवी, पंखा, फ्रिज, एसी व अन्य उपकरण की दुकानें
-रिपेयरिंग की दुकानें
-बर्तन व फर्नीचर
-चश्मा और घड़ी

brijesh sirmour Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned