जानिए क्यों लगा रहा नपा में दिनभर ताला

shubham singh

Publish: Jul, 13 2018 07:47:29 PM (IST)

Shahdol, Madhya Pradesh, India
जानिए क्यों लगा रहा नपा में दिनभर ताला

नपा में कामकाज बंद, नहीं खुला ताला

शहडोल. सातवें वेतनमान और नियमितीकरण सहित अन्य मांगों को लेकर 11 जून से अनिश्चित कालीन काम बंद कर हड़ताल कर रहे नगरपालिका अधिकारियों और कर्मचारियों ने शुक्रवार को भी काम बंद करते हुए सुबह 10 बजे से नगरपालिका कार्यालय में तालाबंदी करने के बाद नपा कार्यालय के सामने अनशन पर बैठ गए। नगरपालिका कार्यालय में ताला बंद होने के कारण नगरपालिका संबन्धी कामकाज दिनभर बंद रहा और नपा आने वाले नगर के लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। नगरपालिका कर्मचारियों की हड़ताल के कारण कोई कर्मचारी अधिकारी कार्यालय के अन्दर नहीं गए। शहडोल नगरपालिका इकाई अध्यक्ष राजेश पाण्डेय ने बताया कि अगर शासन द्वारा मांग पूरी नहीं की गई तो अगले चरण में नगर में पानी की सप्लाई और सफाई व्यवस्था तथा बिजली व्यवस्था बंद कर दी जाएगी। हडताली नपा कर्मचारियों ने निर्णय लिया कि अगर सरकार द्वारा हमारी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो शहर में पानी की सप्लाई व्यवस्था के साथ ही सफाई व्यवस्था तथा नगर की स्ट्रीट लाइट की सुविधाओं को बंद कर दिया जाएगा। इस दौरान होने वाली परेशानियों की जवाबदारी शासन और प्रशासन की होगी। कर्मचारियों ने कहा कि नपा का स्थापना बजट 65 से 80 फीसदी करने, कर्मचारियों और कंप्यूटर आपरेटरों को नियमित करने तथा सांतवें वेतनमान को लेकर लगातार मांग की जा रही है, लेकिन शासन द्वारा नपा के कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है, जबकि सरकार द्वारा संचालित सभी हितग्राही मूलक योजनाओं का क्रियान्वयन नपा के कर्मचारियों द्वारा किया जा रहा है। इकाई के अध्यक्ष राजेश पाण्डेय ने बताया कि अगर सरकार द्वारा हम कर्मचारियों की मांगों को पूरा नहीं किया गया तो इसका खामियाजा भी सरकार को आने वाले विधानसभा और लोकसभा चुनाव में भुगतना होगा।
धरना स्थल पहुंचे सिंधिया-
नगरपालिका कर्मचारियों द्वारा नपा के सामने किए जा रहे अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता Óयातिरादित्य सिंधिया शुक्रवार को दोपहर धरना स्थल पहुंचे। नपा कर्मचारियों ने सिंधिया को ज्ञापन देने के साथ ही अपनी समस्याएं बताई, सिंधिया ने नपा के हड़तालीकर्मचारियों की मांगों को जायज बताते हुए उन्हें समर्थन देने और मांग पूरी कराने का भरोषा दिलाया।

Ad Block is Banned