प्राचार्य को 10 हजार रुपए रिश्वत लेते लोकायुक्त ने रंगे हाथों पकड़ा, स्कूल की भृत्य से मांगे थे 20 हजार रिश्वत

पांच माह से भृत्य का रूका हुआ था वेतन

शहडोल। जयसिंहनगर के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चितरांव के प्रभारी प्राचार्य को लोकायुक्त की टीम ने 10 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ लिया है। शिकायत करने वाली गायत्री वैस निवासी चचाई बाणसागर देवलोंद उसी स्कूल में भृत्य के पद पर पदस्थ हैं। स्कूल के प्रभारी प्राचार्य राजकुमार साकेत ने शिकायतकर्ता से उसके पांच माह के रुके हुए वेतन को निकालने के बदले में 20 हजार रुपए की मांग की थी। शिकायतकर्ता के निवेदन के बाद आरोपी प्राचार्य ने रिश्वत की राशि को दो किश्तों में लेने की सहमति दी थी। इसके बाद शिकायतकर्ता ने मामले की शिकायत लोकायुक्त पुलिस में कर दी। इस पर लोकायुक्त की पुलिस ने प्राचार्य को रंगे हाथों पकडऩे का प्लान बनाया। प्लान के तहत शिकायतकर्ता गुरुवार को रिश्वत की पहली किश्त दस हजार रुपए प्राचार्य राजकुमार साकेत को देने गई। प्राचार्य ने जैसे ही रिश्वत के दस हजार रुपए हाथों में लिया ठीक उसी दौरान लोकायुक्त पुलिस ने प्राचार्य को रंगे हाथों पकड़ लिया। उक्त कार्रवाई लोकायुक्त रीवा पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र वर्मा के निर्देशन में निरीक्षक डोमन सिंह मरावी सहित 15 सदस्यीय दल शामिल रहा।

Show More
shubham singh Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned