व्यापारियों का समर्थन, जीएसटी के कड़े प्रावधानों के विरोध में बाजार बंद

- संशोधनों के विरोध में बंद रहा बाजार

By: Ashtha Awasthi

Updated: 26 Feb 2021, 03:06 PM IST

शहडोल। जीएसटी में 937 संशोधन कर इसमें जो कड़े प्रावधान किए गए है उसके विरोध मे 26 फरवरी को कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स द्वारा बाजार बंद कराया गया। चार वर्ष मे जीएसटी मे 937 संशोधन इसको तकलीफ दायक बना रहे है। इसे लेकर कैट के पदाधिकारियों ने बताया कि हम टैक्स कलेक्ट कर भारत सरकार को देते हैं इसलिये जीएसटी का सरलीकरण किया जाए। पदाधिकारियों ने उन प्रावधानों का विरोध करते है जिसमे व्यापार करने में तकलीफ आयेगी।

जीएसटी में किए गए संशोधनों के विरोध में शुक्रवार को बाजार बंद रहा। कैट पदाधिकारियों ने बताया कि दोपहर 2 बजे तक सभी प्रतिष्ठान बंद रखेंगे। कैट के इस बंद को लघु उद्योग भारती, सोना चांदी व्यवसायी संघ, मेडिकल एसोसियेशन कपड़ा व्यापारी संघ, बर्तन व्यापारी, सराफा व्यापारी संघ, ट्रांसपोर्ट एसोसियेशन फोटोकॉपी एवं स्टूडियो संघ, किराना व्यापारी संघ, आटामोबाइल संघ एवं अनेक व्यापारी संघ सहित अनेक ऐसे संगठन हैं जो जीएसटी के प्रावधानो से तकलीफ झेल रहे हैं उन्होने समर्थन दिया।

ट्रक एसोसिएशन की हड़ताल शुरू

लगातार बढ़ रहे डीजल पेट्रोल के दामों के विरोध में तीन दिन तक ट्रकों के पहिए थमे रहेंगे। ट्रक ऑनर एसोसिएशन ने द्वारा जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया है। जिसे लेकर ट्रक ऑनर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष मोहम्मद जकरिया ने बताया कि डीजल पेट्रोल के दामों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। जबकि माल भाड़ा बहुत कम मिल रहा है जिसके कारण ट्रक मालिकों को परिवहन में काफी परेशानी हो रही है। जिसके विरोध में तीन दिवसीय हड़ताल की जा रही है।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned