scriptMore than 400 farmers got benefit from sack binding, 76 sacks in 34 vi | बोरी बंधान से 400 से ज्यादा किसानों को मिला लाभ, 34 गांव में 76 बोरी बंधान | Patrika News

बोरी बंधान से 400 से ज्यादा किसानों को मिला लाभ, 34 गांव में 76 बोरी बंधान

जल संरक्षण और सिंचाई का रकवा बढ़ाने के प्रयास

शाहडोल

Published: March 07, 2022 12:49:46 pm

शहडोल.वर्षा जल भूजल को रिचार्ज करने का प्रमुख स्रोत है, लेकिन पानी को एकत्रित करने के लिए संरचनाओं की कमी है। अधिकांश वर्षा जल नदियों में बह जाता है जिसके कारण भूजल संरक्षण दिन प्रतिदिन कम हो रहा है। जल धाराओं पर लागत प्रभावी और सरल संरचनाओं के निर्माण की दिशा में कार्य किया जा रहा है। इसके लिए रिलायंस फाउंडेशन विभिन्न गतिविधियों के द्वारा जल संरक्षण व संवर्धन के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। रिलायंस फाउंडेशन अपने सी.बी.एम.-सी.एस.आर. परियोजना अंतर्गत बोरी बंधन को समुदाय के बीच प्रचारित प्रसारित करने का कार्य कर रहा है। जिससे विगत कुछ वर्षों में समुदाय में गतिविधि को लेकर उत्साह देखने मिल रहा है। फाउंडेशन द्वारा पिछले तीन वर्ष से इस दिशा में विशेष पहल की जा रही है। पहल से कृषि उद्देश्यों के लिए पानी की उपलब्धता में वृद्धि हुई है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले तीन वर्ष में 150 से अधिक जल संरचनाओं का निर्माण कराकर लगभग 1100 एकड़ से ज्यादा भूमि को सिंचित करने का कार्य किया है। किसानों को भरपूर लाभ मिल रहा है। तीन वर्ष में तैयार की गई बोरी बंधन संरचनाओं के माध्यम से 5 लाख 87 हजार घन मीटर पानी संरक्षित हुआ है। इससे लगभग 1.5 करोड़ रुपये की अतिरिक्त फसल का उत्पादन इस गतिविधि से इन वर्षों के दौरान हुई है जो की कृषकों की आमदनी को बढाने दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। जिसमें ग्रामीणों ने 2000 वेज दिवस कार्य किया।
ग्रामीणों ने सैकड़ों बोरी बंधन संरचनाएं बनाकर अद्भुत काम किया है। जिसके परिणामस्वरूप फसल क्षेत्र में वृद्धि हुई है और कृषि आय में सुधार हुआ है। साथ ही लाखों घन मीटर वर्षा जल का संरक्षण भी हुआ है जो क्षेत्र के जल उपलब्धता के लिए अत्यावश्यक है।
दारा सिंह, ग्रामीण धुरियाडोल
बोरी बंधन के द्वारा जल संरक्षित कर अब मै अपने बंजर परे खेतो में भी फसल ले पा रहा हूं। रिलायंस फाउंडेशन के सतत सहयोग से हम किसान अब खुद इस सरल तकनीक को अपना कर खेती व आजीविका के अन्य साधनों को विकसित करने में सफल हुए हैं।
कोमल सिंह, ग्रामीण कामरानटोला

बोरी बंधान से 400 से ज्यादा किसानों को मिला लाभ, 34 गांव में 76 बोरी बंधान
बोरी बंधान से 400 से ज्यादा किसानों को मिला लाभ, 34 गांव में 76 बोरी बंधान

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ BJP में शामिल, दिल्ली में जेपी नड्डा ने दिलाई पार्टी की सदस्यताअलगाववादी नेता यासीन मलिक आतंकवाद से जुड़े मामले में दोषी करार, 25 मई को होगी अगली सुनवाईज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी विवाद : वाराणसी कोर्ट की कार्रवाई पर सुप्रीम कोर्ट की रोक, शुक्रवार को होगी सुनवाईउदयपुर नव संकल्प पर अमल: अब कांग्रेस भी बनेगी 'प्रोफेशनल', देशभर में 6500 पूर्णकालिक कार्यकर्ता नियुक्त करने की तैयारीअमृतसर से ISI के दो जासूस गिरफ्तार, पाकिस्तान भेजते थे भारतीय सेना से जुड़ी खुफिया जानकारीहरियाणा के झज्जर में फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 3 की मौत 11 घायलAzam Khan gets interim bail : आजम खान को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत, 89वें केस में मिली अंतरिम जमानत'राज ठाकरे को कोई नुकसान पहुंचाएगा तो पूरा महाराष्ट्र जलेगा', मुंबई में पोस्टर लगाकर MNS ने दी चेतावनी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.