scriptNegligence even after the incident, private hospital operators are doi | घटना के बाद भी लापरवाही, फायर एनओसी में निजी अस्पताल संचालक कर रहे मनमानी | Patrika News

घटना के बाद भी लापरवाही, फायर एनओसी में निजी अस्पताल संचालक कर रहे मनमानी

हादसे के बाद भी नहीं चेते अधिकारी, एनओसी व कार्रवाई के नाम पर कर रहे खानापूर्ति

शाहडोल

Published: August 10, 2022 12:49:42 pm

शहडोल. जबलपुर के अस्पताल में हुई अग्नि दुर्घटना के बाद सरकार अलर्ट मोड़ पर है। स्वास्थ्य विभाग को निजी अस्पतालों का जांच करने के साथ-साथ नगरीय प्रशासन को भी फायर सेफ्टी की मॉनीटरिंग के लिए आदेश जारी कर दिया है। शहडोल शहर में संचालित 17 निजी अस्पतालों में 11 अस्पताल के पास अभी भी फायर सेफ्टी के टेम्परेरी एनओसी नहीं है। आज भी अस्पताल संचालक प्रोविजनल एनओसी से ही काम चला रहे है। वहीं कुछ अस्पतालों का एनओसी की समय सीमा समाप्त हो चुकी है। लेकिन अधिकांश के पास प्रोविजनल एनओसी रख कर मरीजों की जिन्दगी से खिलवाड़ कर रहे हैं। शहर में संचालित कई अस्पताल ऐसे भी है जिनमें सिर्फ प्रवेश द्वार है निकासी द्वार न होने के कारण अग्नि दुर्घटना के समय मरीज व स्टाफ को दूसरे रास्ते से निकलने की सुविधा नहीं बनाई गई है। शहर में संचलित निजी अस्पताल गलत जानकारी देकर रजिस्ट्रेशन करा लिए हंै। जबकि हकीकत में देखा जाए तो अस्पताल को जानकारी के ठीक विपरीत तरह से संचालित कर रहे हंै। जिसको लेकर जिम्मेदार समय-समय पर निजी अस्पतालों का निरीक्षण नहीं करने अस्पताल संचालकों की मानमानी बनी हुई है। जरूरी दस्तावेजों का संधारण न करते हुए अस्पताल संचालित कर रहे हैं। जिसका एक उदाहरण जबलपुर में देखा जा चुका है।
एक साल के लिए होता है प्रोविजनल एनओसी
जानकारों की माने तो अस्पताल संचालित करने के लिए पहले प्रोविजनल एनओसी दी जाती है जिसकी वैधता एक वर्ष की होती है। इसके बाद अस्पताल संचालक को टेम्परेरी फायर एनाओसी लेना अनिवार्य है जिसकी वैधता तीन साल की होती है। जिले में संचालित अधिकांश निजी अस्पताल संचालक प्रोविजनल फायर एनओसी के बाद टेम्परेरी के लिए ऑनलाइन ऑवेदन ही नहीं किया है।
अब नहीं मिलेगा प्रोविजनल एनओसी
नगरीय विकास एंव आवास विभाग ने नया आदेश जारी करते हुए कहा है कि प्रोविजनल फायर एनओसी जो वास्तव में फायर प्लान का एप्रुवल मात्र है। इसी आधार पर जारी किए गए लाईसेंस रजिस्ट्रेशन का पुनरीक्षण किए जाने के साथ-साथ 3 वर्ष अवधि के फायर अनापत्ति प्रमाण पत्र के आधार पर ही लाईसेंस/ रजिस्ट्रेशन प्रदान करने की कार्रवाई की जाएगी। प्रोविजनल एनओसी से अस्पताल व अन्य भवन संचालक संस्थान शुरू नहीं कर सकते हैं। जब तक उनके पास तीन वर्ष का फायर एनओसी न हो।
सभी नगरपालिका व नगर परिषद को रिमाइंडर जारी
कार्यालय संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एंव विकास ने जबलपुर में हुए हादसे के बाद निर्धारित क्षेत्रफल के भवनों के लिए फायर एनओसी प्राप्त करने की कार्रवाई के लिए सभी नगरपालिका व नगर परिषद को आदेश जारी कर दिया है। जिसमें उल्लेख किया गया है कि भवन के स्वामियों को फायर एनओसी प्राप्त करने के लिए सूचित किया गया था। लेकिन निकायों की सत्त निगरानी न करने से अधिकांश भवन व संस्थाओं के अभी तक फायर एनओसी प्राप्त करने की कार्रवाई नहीं की गई है। पत्र में साफ तौर पर उल्लेख किया गया है कि हास्पिटल या किसी सार्वजनिक जगह पर कोई अग्नि दुर्घटना होने पर जान माल की हानि होती है तो यह माना जाएगा की पर्याप्त कार्रवाई इस मामले में नहीं की गई है जिसका उत्तरदायित्तव नगरपालिका व नगर परिषद का होगा।
इनके पास नहीं है ट्रेम्परेरी फायर एनओसी
अमृता हॉस्पिटल
देवांशी डायग्नोशिस सेंटर एंड हॉस्पिटल
देवांता हॉस्पिटल
मुंदड़ा मेटरनिटी होम
सराफ हॉस्पिटल
मेवाड़ हॉस्पिटल
विराटेश्वरी हॉस्पिटल
जेजे हॉस्पिटल
स्वास्तिक हेल्थ केयर
परमानंद हॉस्पिटल
श्री श्याम केयर हॉस्पिटल

घटना के बाद भी लापरवाही, फायर एनओसी में निजी अस्पताल संचालक कर रहे मनमानी
घटना के बाद भी लापरवाही, फायर एनओसी में निजी अस्पताल संचालक कर रहे मनमानी

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

IND vs SA: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान, सभी सीनियर खिलाड़ियों को मिला आरामअरविंद केजरीवाल का बड़ा दावा- 'गुजरात में बनेगी आप की सरकार', IB रिपोर्ट का दिया हवालासच बोलने की सजा भुगतनी पड़ी... बिहार के कृषि मंत्री के इस्तीफे पर BJP ने नीतीश पर किया हमलाअमित शाह के जम्मू दौरे से पहले पुलवामा में आतंकी हमला, पुलिस का एक जवान शहीद, CRPF जवान जख्मीIAF की ताकत में होगा इजाफा, कल सेना में शामिल होगा स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर, जानें इसकी खासियतIND vs SA 2nd T20: 2 गेंदबाज जो साउथ अफ्रीका को हराने में टीम इंडिया की मदद करेंगेबिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने दिया इस्तीफा, डिप्टी सीएम को सौंपा पत्रहिमाचल पहुंचे जेपी नड्डा, BJP जिला कार्यालय का लोकार्पण करने के बाद पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ की बैठक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.