अफसरों से सांठगांठ कर सूदखोरों ने सरकारी भूमि पर बना ली थी 14 दुकानें और शॉपिंग मॉल

पुलिस और प्रशासन की जांच में सामने आई करतूत, सूदखोरों को नोटिस जारी, जल्द करेंगे जमींदोज

By: amaresh singh

Published: 03 Apr 2021, 11:30 AM IST

शहडोल. कोयलांचल में रसूखदार सूदखोरों की पुलिस के साथ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ भी सांठगांठ थी। सूदखोरों ने कोयलांचल में सरकारी भूमि पर कब्जा करते हुए घर, दुकानें और शॉपिंग मॉल तैयार करा लिया था। लंबे समय से सरकारी भूमि पर कब्जा था। हाल ही में कॉलरी क्षेत्रों में पैठ बना चुके अलग-अलग सूदखोर गिरोह का खुलासा होने के बाद पुलिस और प्रशासन की जांच में यह करतूत सामने आई है। ऐसा भी नहीं है कि राजस्व अधिकारियों के जानकारी में न रहा हो लेकिन रसूख के चलते कोई कार्रवाई नहीं हो रही थी। सूदखोरों को पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को नोटिस जारी किया है। अतिक्रमण न हटाने की स्थिति में अधिकारियों द्वारा जमींदोज करने की कार्रवाई की जाएगी। इसमें सूदखोर जवाहर जसवानी, बृजवासी अग्रवाल और मुनब्बर का नाम शामिल है। एसपी अवधेश गोस्वामी के अनुसार, सूदखोरों ने सरकारी भूमि पर कब्जा करने के साथ नियम विरूद्ध तरीके से 14 दुकानों के साथ घर और शॉपिंग मॉल तैयार कर लिया था। बताया जा रहा है कि सूदखोर जवाहर ने 11 सौ वर्गफीट पर अवैध तरीके से सरकारी भूमि पर कब्जा करते हुए दुकानों का निर्माण करा दिया था।


12 और कॉलरी श्रमिकों के बयान दर्ज, खुलेगी फाइल
कॉलरी में चौपाल लगाने पर सूदखोरों के चंगुल में फंसने के बाद 67 पीडि़त सामने आए थे। इन शिकायतों पर शुक्रवार को दिनभर पुलिस अधिकारी जांच करते रहे। डीएसपी सोनाली गुप्ता ने बयान दर्ज किए। इस दौरान शुक्रवार को 12 पीडि़तों के बयान दर्ज किए गए। शुक्रवार की देर शाम एसपी अवधेश गोस्वामी अमलाई थाना पहुंचकर पीडि़तों से बातचीत की। अधिकारियों के अनुसार, पुरानी फाइल खोली जाएगी।

गठजोड़ ऐसी कि ऐसी भी नहीं पहुंची सूदखोरी की शिकायत
सूदखोरों की कोयलांचल में पुलिस के साथ खासी पकड़ थी। गठजोड़ ऐसी थी कि कोई शिकायत थानों तक पहुंचती ही नहीं थी। एसपी अवधेश गोस्वामी पिछले चार माह से लगातार क्राइम मीटिंग और थानों की बैठक में सूदखोरी को लेकर पेंच कस रहे थे। इसके बावजूद कोई शिकायत ही नहीं पहुंच रही थी।

पुराने सूदखोरों के साथ पांच नए नाम आए सामने
कॉलरी में 67 कॉलरी श्रमिकों की शिकायतें आने के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। इसमें पुराने सूदखोरों के साथ पांच नए नाम सामने आए हैं। पुलिस इन सूदखोरों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, अधिकांश पुराने सूदखोरों का नाम ही सामने आया है।

आत्महत्या के दस सालों के रेकार्ड खंगालेगी पुलिस
एसपी अवधेश गोस्वामी कॉलरी श्रमिकों के आत्महत्या से जुड़े मामलों को खंगलवा रहे हैं। शहडोल पुलिस पिछले दस सालों का रेकार्ड तलाश रही है। इसमें पुलिस जांच कर रही है कि कॉलरी श्रमिकों ने आत्महत्या जैसा कदम क्यों उठाया। पुलिस इन मामलों को भी सूदखोरी से जोड़कर देख रही है।

 

सूदखोर जवाहर जसवानी, बृजवासी अग्रवाल और मुनब्बर को नोटिस जारी किया है। कुछ ने सरकारी भूमि पर कब्जा कर लिया था तो कुछ ने नियम विरूद्ध तरीके से निर्माण कार्य करा रखा था। हटाने के लिए कहा है। जमींदोज किया जाएगा।
अवधेश गोस्वामी, एसपी शहडोल

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned