मचा रहे थे बहुत उत्पात, जंजीरों में जकड़े गए गजराज

मचा रहे थे बहुत उत्पात, जंजीरों में जकड़े गए गजराज

shivmangal singh | Publish: Sep, 10 2018 08:03:38 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

रेस्क्यू टीम का तीसरे दिन भी जारी रहा ट्रेंकुलाइज करने का आपरेशन, एक बिगड़ैल हाथी काबू में आया टीम ने सांकल से जकड़ा

शहडोल. लगातार तबाही मचाने वाले बिगड़ैल जंगली हांथियों के झुंड को ट्रैंकुलाइज करने के लिए लगातार तीसरे दिन रविवार को रेस्क्यू आपरेशन चलाया गया। दल को नर हाथी पकडऩे में सफलता मिली है। ड्रोन कैमरे से हाथियों का जायजा लेते टीम उन तक पहुंच गई। और सुरक्षित स्थान देखकर बेहोशी की दवा भरी गन से ट्रैंकुलाइज किया। जिससे हाथी बेहोश हो गया। और टीम ने उसे सांकल से जकड़ लिया है। यह दल का सबसे अधिक उत्पाती नर हाथी है। जंगली हाथियों के दल में पांच की संख्या में हाथी हैं। जिसमें एक नरए दो मादाए दो बच्चे शामिल है। चंगुल में लिए गए हाथी को अभी वन क्षेत्र में ही रखा गया है। ताकि उसके पास आने वाले अन्य हांथियों को ट्रैंकुलाइज किया जा सके। नर हांथी को ट्रैंकुलाइज करने के बाद रेस्क्यू आपरेशन में जुटी टीम का हौंसला बढ़ गया है। उम्मीद है किए शीघ्र ही अन्य हांथियों को भी ट्रैंकुलाइज कर लिया जाएगा। उसके बाद हाथियों को बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में ले जाने की जानकारी विभागीय अधिकारी दे रहे हैं। उल्लेखनीय है किए हाथियों को ट्रैंकुलाइज करने के लिए कर्नाटक और मप्र के कई जगहों से एक्सपर्ट की टीम शुक्रवार को पहुंच गई थी। और रेस्क्यू आपरेशन शुरू कर दिया गया था। लेकिन पहले दिन मौसम खराब होने के कारण टीम को लौटना पड़ा। दूसरे दिन पुनरू रैस्क्यू दल ने संबंधित क्षेत्र में पहुंचकर ड्रोन कैमरे से हाथियों की उपस्थित का जायजा लिया। इस दौरान टीम में शामिल अधिकारी कर्मचारी दिनभर जंगलों की खाक छानते रहे। दिन ढलने तक सफलता नहीं लगी। तीसरे दिन रविवार को एक नर हाथी को ट्रैंकुलाइज किया गया।

shahdol

कई घर फोड़े, एक को मार डाला दूसरे को घायल किया
छत्तीसगढ़ से लगी सीमा पर हाथियों ने उत्पात मचाया हुआ है। हाथियों ने बाणसागर इलाके के सतनी गांव निवासी एक बुजुर्ग को पटककर मार डाला था, जबकि दूसरे एक व्यक्ति घायल हो गया था। कई घरों को भी हाथियों ने तहस-नहस कर दिया था। इसके बाद से ही वन विभाग ने टीमों को उतारा हुआ है। वन विभाग की टीम हाथियों को काबू में करने में लगी हुई है। हालांकि बहुत समय बाद टीम को मामूली सफलता मिली है।

Ad Block is Banned