धोखे से दस हजार की जगह निकाल लिए दस लाख रुपए

धोखाधडी कर पैसे ऐंठने वालों को 5-5 वर्ष का कठोर कारावास

शहडोल। धोखाधड़ी कर एक व्यक्ति से पैसे ऐंठने वाले दो आरोपियों को कोर्ट ने 5-5 साल की कठोर कारावास की सजा सुनाई है। फरियादी गोकुल उर्फ गोपी विश्वकर्मा ने थाना अमलाई में रिपोर्ट दर्ज कराई कि जून 2014 में ओरिएण्ट पेपर मिल अमलाई से सेवानिवृत्त हुआ था। उसे जो पीएफ का पैसा मिला था, उसे उसने खाते में 10 लाख 80 हजार 702 रुपए जमा किए थे। उस पर बैंक ने चेक बुक दिया था। वह ग्राम हेमगिरी उड़ीसा का रहने वाला है। जहां का मनोज प्रधान रहने वाला है। उसके बगल के गांव का बंटी उर्फ शेख समसुद्दीन रहने वाला है। दोनों हेमगिरी गांव में उसे मिले। उन्होंने बताया कि टे्रडिंग मार्केटिंग कंपनी में वे लोग काम करते हैं। एक बार दस हजार रुपया लगाने पर प्रत्येक माह 15 हजार रुपया मुनाफा मिलेगा। इस पर मैने सहमति दे दी। वे लोग वापस बकहो आ गए, जहां आरोपी बल्लब, वेनुधर, मनोज प्रधान और शेख समसुद्दीन उसके घर आए और 14 नवंबर 2014 को दस हजार रुपए का चेक काटने के लिए कहा। इस दौरान शेख समसुद्दीन ने दस हजार की जगह दस लाख रुपए लिख दिया। फरियादी ने कम पढ़े लिखे होने के चलते चेक पर हस्ताक्षर कर दिया। इसके बाद जब फरियादी गोकूल बैंक जाकर पीएफ के पैसे निकालना चाहा तो बैंक वालों ने बताया कि उसके खाते में पैसा नहीं है। उसके पैसे उसके बिना अनुमति के निकाल लिए गए। पुलिस ने रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर जांच के बाद कोर्ट में चालान पेश किया। प्रथम अपर सत्र न्यायालय बुढ़ार द्वारा विवेचना उपरांत आरोपियों को दोषी मानते हुए बंटी उर्फ शेख शमसुद्दीन अहमद निवासी सुबलैया उड़ीसा को 3 वर्ष का कठोर कारावास एवं 5 हजार रुपए अर्थदंड, धारा 467 में 5 वर्ष का कठोर कारावास एवं 10 हजार रुपए,धारा 468 में 5 वर्ष का कठोर कारावास एवं 5 हजार रुपए, धारा 471 में 5 वर्ष का कठोर कारावास एवं दस हजार रुपए, आरोपी मनोज प्रधान निवासी झुलनवर उड़ीसा को 3 वर्ष का कठोर कारावास एवं 5 हजार रुपए, धारा 467 में 5 वर्ष का कठोर कारावास एवं 10 हजार रुपए, धारा 468 में 5 वर्ष का कठोर कारावास 5 हजार रुपए, धारा 471 में 5 वर्ष का कठोर कारावास एवं 10 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है। शासन की ओर से प्रकरण में अपर लोक अभियोजक बुढ़ार आरके नापित द्वारा पैरवी की गई।

shubham singh Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned