सीएम हेल्पलाइन की शिकायत न निपटाना पड़ा भारी, कमिश्नर ने की बड़ी कार्रवाई

सीएम हेल्पलाइन की शिकायत न निपटाना पड़ा भारी, कमिश्नर ने की बड़ी कार्रवाई

shivmangal singh | Publish: Sep, 03 2018 02:52:21 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

चार माह से नहीं खोला सीएम हेल्पलाइन पोर्टल, परियोजना प्रशासक निलंबित, लंबित थी भुगतान से जुड़ी कई शिकायतें, कमिश्नर ने की कार्रवाई

शहडोल। सीएम हेल्पलाइन में त्वरित निराकरण के लिए भले ही तमाम प्रयास किए जा रहे हो लेकिन अभी भी अफसर और कर्मचारी गैर जिम्मेदार हैं। ऐसा ही एक मामला बैगा विकास अधिकरण शहडोल में देखने को मिला है। यहां बेखबर प्रभारी परियोजना प्रशासक ने पिछले चार माह से सीएम हेल्पलाइन का पोर्टल ही नहीं खोला था। सीएम हेल्पलाइन पोर्टल में भुगतान से संबंधित कई शिकायतें भी लंबित थी। अधिकारियों की मॉनीटरिंग में परियोजना प्रशासक और कर्मचारियों की बड़ी लापरवाही उजागर हुई। मामले को गंभीरता से लेते हुए कमिश्नर जेके जैन ने प्रभारी परियोजना प्रशासक डॉ प्रयास कुमार प्रकाश (मूलपद हाईस्कूल प्राचार्य) को निलंबित कर दिया गया है। निलंबन अवधि में मुख्यालय प्राचार्य ज्ञानोदय आवासी स्कूल विचारपुर में नियत किया गया है। विभागीय जानकारी के अनुसार, प्रभारी परियोजना प्रशासक द्वारा 2 मई 2018 के बाद सीएम हेल्पलाइन पोर्टल नहीं खोला गया। चार माह 30 अगस्त तक लागिन न करने से कई शिकायतें भी लंबित थी। पोर्टल में दर्ज शिकायतकर्ता हेमराम महोबिया निवासी मैकी का भुगतान समय सीमा में लंबित था। इसके अलावा भी लापरवाही मिलने पर कमिश्नर जेके जैन द्वारा यह कार्रवाई की गई।
लिपिक के खिलाफ भी कार्रवाई
मामले में लापरवाही बरतने पर उपायुक्त जनजातीय विकास विभाग शहडोल के लिपिक शिव राम सोंधिया को भी निलंबित कर दिया गया है। लिपिक द्वारा भी सीएम हेल्पलाइन में लापरवाही बरती गई थी।

चुनाव के मद्देनजर बरती जा रही सख्ती
शिकायतों के पेंडिंग होने को लेकर आम जन में सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे थे। इसको लेकर सरकार के पास फीडबैक था। सीएम हेल्पलाइन तक की शिकायतें सरकारी कर्मचारी और अधिकारी नहीं निपटा रहे थे। किसानों की शिकायतें बड़ी संख्या में लंबित थीं। इसको लेकर सरकार ने गंभीरता दिखाते हुए सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों को तेजी से निपटाने की हिदायत दी हुई है। चुनाव के मद्देनजर भी सरकार सीएम हेल्पलाइन पर फोकस कर रही है। इसको लेकर दो बड़े अधिकारियों पर शहडोल में ही गाज गिर चुकी है। इससे पहले बिजली विभाग के बड़े अधिकारी को सस्पेंड किाय जा चुका है।

सीएम हेल्पलाइन पोर्टल लगभग चार माह से नहीं खोला गया था। इसके कारण कई शिकायतें लंबित थी। सीएम हेल्पलाइन की मॉनीटरिंग के दौरान यह बात सामने आई। जिसके बाद निलंबन की कार्रवाई की गई है।
जेके जैन, कमिश्नर शहडोल

Ad Block is Banned