पत्नी से मांफी मांगते ही छलके आंसू, सालों से थे अलग, कहा अब बच्चों को मिलेगा सहारा

पत्नी से मांफी मांगते ही छलके आंसू, सालों से थे अलग, कहा अब बच्चों को मिलेगा सहारा

Amaresh Singh | Updated: 14 Jul 2019, 01:47:48 PM (IST) Shahdol, Shahdol, Madhya Pradesh, India

लोक अदालत में सुलझे सालों से पेडिंग केस, अलग- अलग मामलों में 2 करोड़ का एवार्ड पारित

शहडोल। लंबे समय से एक दूसरे से अलग रह रहे पति पत्नी कोर्ट में जज के सामने उस वक्त भावुक हो गए जब पति ने हाथ पकड़कर माफी मांग ली। पत्नी से माफी मांगते ही दोनों के आंसू छलक गए। बाद में कहा कि अब बच्चों को सहारा मिलेगा और फिर एक होकर साथ घर चले गए। लखपति रैकवार और कली रैकवार का काफी समय से मनमुटाव था। कुछ समय के लिए दोनों अलग भी हो गए थे। एक ने तलाक तो दूसरे ने भरण पोषण का केस लगा दिया था। दोनों के तीन बच्चे भी थे। बाद में मामला कोर्ट पहुंचा। जहां लोक अदालत में प्रधान न्यायाधीश डॉ रमेश साहू ने दोनों का समझौता कराया और फिर बच्चों के साथ घर गए।

समझौता कराते हुए एक किया
इसी तरह 2015 में शादी होने के बाद पिछले एक साल से अलग रह रहे पति पत्नी को खण्डपीठ की पीठासीन अधिकारी रेनु खान ने समझौता कराते हुए एक किया। नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ जिला एवं सत्र न्यायाधीश आरके सिंह ने मां सरस्वती की पूजा अर्चना के साथ की।


22 खण्डपीठों में सुनवाई
नेशनल लोक अदालत में प्रकरणों के निराकरण के लिए 22 खण्डपीठ बनाए गए थे। जिसमें से 11 जिला न्यायालय शहडोल, 3 खण्डपीठ न्यायालय ब्यौहारी, 4 खण्डपीठ न्यायालय बुढ़ार और 4 खण्डपीठ जयसिंहनगर में बनाई गई थी। जहां पर अलग-अलग मामलों की सुनवाई हुई।


लोक अदालत में इनकी थी मौजूदगी
कुटुम्ब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश डॉ. रमेश साहू, विशेष न्यायाधीश सभापति यादव, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अनूप कुमार त्रिपाठी, प्रथम अतिरिक्त जिला न्यायाधीश अविनाश चंद्र तिवारी द्वितीय अतिरिक्त जिला न्यायाधीश अनुज कुमार मित्तल, तृतीय अतिरिक्त जिला न्यायाधीश केके मिश्रा, अतिरिक्त जिला न्यायाधीश राजेश कुमार श्रीवास्तव, मुख्य न्यायिक मजिस्टेट संतोष कोल अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्टेट जेएन सिंह न्यायिक दण्डाधिकारी विवेक सिंह न्यायिक दण्डाधिकारी सतीश शर्मा एवं रेनु खान, न्यायिक दण्डाधिकारी ज्योति मरावी, प्रशिक्षु न्यायाधीश राजकुमार तोरनिया एवं साक्षी प्रसाद जिला विधिक सहायता अधिकारी बीडी. दीक्षित, नारायण प्रसाद शुक्ला और चितरूपा दिक्षित मौजूद रहे।

केस रेफर सुलझे एवार्ड
मोटर दुर्घटना दावा 417 76 1 करोड़ 79 लाख 47 हजार
धारा 138 521 45 38 लाख 68 हजार 260
अपराधिक प्रकरण 360 30 --
वैवाहिक प्रकरण 82 09
बैंक रिकवरी 1448 404 1 करोड़ 24 हजार 855
बिजली से जुड़े केस 611 44 2 लाख 61 हजार 698
नगरपालिका कर 1625 1077 4 लाख 28 हजार 371
कुल प्रकरण 2050 190 2 करोड़ 30 लाख 17 हजार 963

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned