बिना स्वास्थ्य परीक्षण नहीं मिलेगा गांव में लोगों को प्रवेश

कलेक्टर ने अधिकारियों को दिए निर्देश

By: lavkush tiwari

Published: 19 Apr 2020, 12:22 PM IST

शहडोल. बिना स्वास्थ्य परीक्षण के किसी भी बाहर से आने वाले व्यक्ति को गांव में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। उक्त निर्देश कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह ने कलेक्टर कार्यालय सभागार मेें जिले के विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर लॉक डाउन के दौरान कोरोना वायरस के नियंत्रण एवं बचाव के मद्देनजर जिले को ग्रीन केडर में रहने पर आगामी दिनों में विभाागीय विभागों द्वारा संचालित कार्यों के लिए अधिकारियों से चर्चा की। उन्होने कहा बाहर से आने वाले व्यक्तियों की सतत निगरानी करें और पंचायतों को इसकी जानकारी दें।
कलेक्टर ने कहा कि बाहर से आने वाले ऐसे व्यक्तियों को तत्काल मास्क, सेनेटाईजर का उपयोग कराएं तथा उन्हें रूकने एवं भोजन की व्यवस्था कराएं। कलेक्टर ने कहा कि आरटीओ सभी मार्गों पर कड़ी निगरानी करें तथा निजी टे्रक्टरों एवं ट्रकों के लायसेंस तथा जरूरी कागजात की कडी जांच करें और उन्हें सेनेटाईजर, मास्क लगाने तथा सोशल डिस्टेंसिंग के पालन करने की समझाइस दें और दो पहिया वाहनों में केवल एक व्यक्ति को अनुमति दें तथा निर्माण के कार्यों में लगे वाहनों के उनके कार्ड वैधानी परिचय पत्र, कार्य स्थल का विवरणा, इत्यादि की कडी निगरानी के साथ परीक्षण कराएं। नगरपालिका में कार्य कर रहे निजी सफाईकर्मी तथा जेसीबी के ड्राइवरों आदि को मास्क लगाना एवं सेनेटाईजर का उपयोग आवश्यक करें।
खोली जाएंगी आंगनवाडी और स्कूल-
लाकडाउन के दौरान अब ऑगनवाड़ीयां खोली जाएगी लेकिन वहां ब च्चे नहीं जाएंगे और बच्चों तथा गर्भवती माताओं को घर-घर पोषण आहार वितरित किया जाएगा। कलेटटर ने स्कूल खोलने के निर्देश भी दिए तथा स्कूल में सिर्फ शिक्षक ही आएंगे और अपने स्कूल में शिफ्टवार आकर उतर पुस्तिका जांच कर रिजल्ट तैयार करने की कार्रवाई करे तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।
एसपी सत्येन्द्र शुक्ला ने निर्देशित किया कि निजी संस्थानों द्वारा संचालित मशीनरी एवं अत्यावश्यक सेवाओं वाले संस्थाओं में कार्य करने वाले प्रत्येक व्यक्ति का परिचय पत्र संस्था प्रमुख जारी करेगें तथा अधिक होने पर उन्हें भी शिफ्टवार लॉकडाउन के निर्देशों का पालन करते हुए कार्य करना होगा। संस्था प्रमुख अपने संस्थानों में कार्यरत सभी वर्करों की सूची भी तैयार कर रखें। इसी प्रकार अन्य आवश्यक कार्यों जैसे रेत खनन, क्रेसर तथा विकास एवं निर्माण से संबंधित कार्योंके लिए संबंधित विभागीय अधिकारी अपने विभागाध्यक्ष से परामर्श लेकर उनकी अनुमति पर कार्य कराने की पहल करें और लॉकडाउन की अवधि में सोशल डिस्टेसिंग मास्क, सेनेटाईजर आदि का उपयोग आवश्यक रूप से करना होगा अन्यथा वैधनिक कार्रवाई संबंधित संस्थानों के विरूद्ध की जाएगी। इस मौके पर एसपी सत्येन्द्र कुमार शुक्ल, सीइओ जिला पंचायत पार्थ जायसवाल, अपर कलेक्टर अशोक ओहरी, मिलिंद नागदेवे सहित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Show More
lavkush tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned